Delhi

उत्तर प्रदेश चुनावी नतीजों के बाद इतिहास के पन्नो से तहज़ीब ए अवध ।

भारत के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के बाद दो राज्यों पर विशेष ध्यान दिया गया। पंजाब और उत्तर प्रदेश के नतीजों ने जमीनी स्तर पर विश्लेषण करने वालो के सभी अनुमान गलत साबित कर दिए।...

एक युद्ध, युद्ध के विरुद्ध अर्थात War against War. यूरोप में नाटो और युद्धु उन्मादी ( War mongers ) के विरुद्ध जनता सड़कों पर।

रूस और युक्राइन के बीच चल रहे युद्ध में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने टेक्टिक्ल कमांड को एक्टिव कर दिया और विश्व मीडिया में तीसरे विश्व युद्ध की आहट सुनाई देने लगी।...

तपती दुपहरी और झुलसाती गर्म हवाओं के बीच यदि पल भर को किसी पेड़ की छाया मिल जाए तो कैसा सकून होता है।

तपती दुपहरी और झुलसाती गर्म हवाओं के बीच यदि पल भर को किसी पेड़ की छाया मिल जाए तो कैसा सकून होता है। निसंदेह ऐसा ही अनुभव तब होता है जब युद्ध की चीख पुकार में कोई दो शब्द शांति के बोल दे।...

Conflict between Russian forses and Ukrainian army. Ground report for NewsNumber.Com

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा युद्ध की घोषणा के साथ ही रूसी सैनिकों के यूक्रेन पर धावा बोलने के समाचारों के साथ साथ स्वाभाविक रूप से प्रोपेगंडा मशीनरी भी काम कर रही है और विभिन्न विरोधाभाषी खबरे आ रही है।...

रूस यूक्रेन विवाद से उत्पन्न आर्थिक संकट ! भारत एवम दक्षिण एशियाई देशों में संभावित प्रभाव।

यूक्रेन रूस विवाद का कारण बेशक यूक्रेनियन सरकार की मूर्खता हो या यूएस एवम नाटो देशों पर अंध विश्वास लेकिन इसका असर वैश्विक आर्थिक जगत पर नही होगा ऐसा सोचना भी गलती होगी।...

किसान आंदोलन के नेता राकेश टिकैत ने अपने चुनावी क्षेत्र से वोट कास्ट करने के बाद बोला था कि वोट कोको ले गई। इसे बड़े कैनवास में समझने की कोशिश करे।

इसमें कोई सन्देह नहीं है कि दक्षिण एशिया की नस्ले भावनात्मक पक्ष को ज्यादा तरजीह देती हैं और कल्पनाओ के घोड़ों पर सवार होकर आसमानों की सैर करना पसंद करती हैं।...

रूस यूक्रेनिया विवाद युद्ध के रास्ते पर, क्या अगली कड़ी में ताइवान या दक्षिण एशिया भी आ सकता हैं ?

पूर्व सोवियत राज्य और 1991 में स्वतंत्र देश बने यूक्रेन के दो राज्यों को स्वतंत्र देश घोषित करने के साथ ही मध्य एशिया में फिलहाल युद्ध की आहट सुनाई देने लगी है लेकिन ऐसा नहीं लगता कि वेस्टर्न पावर फिलहाल रूस को कोई बड़ी चुनौती देने में सक्षम हैं।...

यूक्रेन, रूस, अमेरिका और नाटो की जबानी जमाखर्च के बीच भारतीय उपमहाद्वीप में पड़ने वाले प्रभाव।

अचानक रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अपने देश को संबोधित करते हुए लगभग एक घंटे का भाषण देते है जिसमे किसी लिखित सामग्री या टेली प्रॉम्पटर का उपयोग नही किया गया।...

सुंदरता और नफासत का प्रतिबिंब मधुबाला जिसे भारतीय सिनेमा का जीवित शाहकार समझा जाता है उनकी 53 वीं पुण्यतिथि पर विशेष।

सुंदरता की देवी या खूबसूरती का शाहकार समझी जाने वाली मधुबाला न केवल एक बेहतरीन कलाकार थी अपितु करोड़ो लोगो के दिल की धड़कन भी थी तभी तो उनके जाने के 53 साल बाद भी उन्हें शिद्दत से याद किया जाता है।...

अंतर्राष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस जिसे प्रत्येक वर्ष 21 फरवरी को मनाया जाता है। भारतीय उपमहाद्वीप के संदर्भ में।

21 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस मनाया जाता है जो शायद अंग्रेजी के mother language का अनुवाद है। वैसे देखा जाए या मानवीय संवेदनाओं के मद्देनजर ख्याल किया जाए तो मादरी जुबान का अर्थ मां बोली होना चाहिए।...

भारतीय समयानुसार लगभग दस घंटे बाद भारतीय पंजाब में पंजाब प्रोविंस के लिए वोटिंग शुरू हो जाएगी लेकिन दूसरी ओर वैश्विक राजनीति में भी बड़ी उथल पुथल के संकेत मिल रहे हैं।

वक्त अपनी गति से चलता जाता है और इंसान तथा इंसानी ख्वाबों को पीछे छोड़ता जाता है। भारतीय समयानुसार लगभग दस घंटे बाद भारतीय पंजाब में विधानसभा के लिए वोटिंग शुरू हो जाएगी।...

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बयान पर गरमाई राजनीति और भारत में संवैधानिक स्थिति !

आप मेरे घर में घुसकर मेरे घर के माहौल को बदलने की कोशिश ना करें क्योंकि यह मेरा हक है ! हिटलर के शासन काल में यहूदियों ने कुछ इसी प्रकार से विरोध करने की कोशिश की थी तो हिटलर को बर्दाश्त नहीं हुआ और उसने गैस चैंबर बनवा दिए हालांकि आज ऐसा सोचना भी गुनाह है।...

दीप सिद्धू की अकाल मृत्यु और पंजाब की राजनीति पर सम्भावित असर !

नवम्बर 2020 किसान आंदोलनकारियों के जत्थे अपने ट्रेक्टर ट्रालियों पर दिल्ली की ओर कूच करते है, रास्ते की बाधाए पार करते हुए दिल्ली की सीमा पर रोक लिए जाते है और मीडिया में एक युवा पुलिस अधिकारी से अंग्रेजी में बहस करता हुए नजर आता है।...

Happy valentine day ! बाज़ार वाद और सूचना क्रांति के कारण विश्व संस्कृति के उत्सव का दक्षिण एशिया में इतिहास।

पाकिस्तान के शहरों में पुलिस घूम घूम कर घोषणा कर रही है कि अगर कोई प्रेमी जोड़ा पार्क या बाज़ार में घूमता पाया गया तो उनका जबरदस्ती निकाह करा दिया जाएगा। इससे भी पहले भारत में बजरंग दल के गुंडे मवाली पार्कों में साथ घूमते हुए युवाओं से मारपीट और बदसलूकी करते देखे जाते थे, यहां तक कि भारत के उत्त प्रदेश प्रोविंस में तो पांच साल पहले ही योगी आदित्यनाथ की बीजेपी सरकार ने पुलिस में एंटी रोमियो स्क्वाड बना दिया था, जिसके बारे में मज़ाक किया जाता था कि जब हमारा घर नहीं बसा तो किसी और का कैसे बस सकता है ( नरेंद्र मोदी भी अपनी को साथ नहीं रखते और योगी जी तो अविवाहित ही है )...

भारत में असफल होता ब्रिटिश प्रणाली का लोकतंत्र ! व्यवस्था के कारण या कुछ स्तरहीन व्यक्तियों के राजनीति में आने के कारण ?

बॉलीवुड जिसे पहले बॉम्बे फिल्म इंडस्ट्री कहा जाता था उसकी पुरानी फिल्में देख ले या उससे भी पहले लायलपुर और लाहौर के थियेटर देख ले तो सब कुछ होते हुए भी स्तरहीन नहीं होता था लेकिन फिर पाकिस्तान में यमला जट्ट आया और भारत में "कुत्ते तेरा खून पी जाऊंगा" जैसे डायलॉग।...

क्या चीन के दबाव में वर्तमान भारत सरकार कश्मीर और सीपेक पर अपने स्टैंड से यू टर्न लेने वाली हैं ?

किसी भी देश के राष्ट्रपति या प्रधानमन्त्री द्वारा बोला गया प्रत्येक शब्द अथवा वाक्य बहुत गहरे अर्थ लिए होता है हालांकि डोनाल्ड ट्रंप और उन जैसे कुछ तथाकथित नेता इसमें अपवाद स्वरूप छोड़े जा सकते है।...

क्या भारत की विविधिता पूर्ण संस्कृति को खत्म करने की साज़िश के साथ विभाजन की खाई में धकेला जा रहा है ?

अभी कुछ दिन पहले भारत के कर्नाटक प्रॉविंस में कुछ बच्चियों द्वारा हिजाब ओढ़ने के विरोध में एक प्रायोजित नाटक हुआ बेशक उसके पीछे का मकसद अब सामने आ रहा है लेकिन उसके साथ ही दबे पांव सिख समुदाय और अन्य अल्पसंख्यकों को भी निशाना बनाने की आहत सुनाई देने लगी।...

दिल्ली का चांदनी चौक और चांदनी चौक का बल्लीमारान मोहल्ला जिसे गालिब के सन्दर्भ में याद किया जाता है। उसी बल्लीमारान में एक और हस्ती का जन्म हुआ था जिसका आज जन्मदिन है।

कहते है कि दिल्ली की गलियां छोड़ कर कौन जाना चाहता है क्योंकि दिल्ली रूहें जमीन पर का वो हिस्सा है जहां इतिहास रचने वाले पैदा हुए हैं बेशक वो गालिब हो, जौक हो या बॉलीवुड एक्टर प्राण साहब हो।...

भारत के एक प्रॉविंस कर्नाटक से राजनीतिक लाभ के लिए शुरू किया गया हिजाब विवाद अब भारत सरकार और भारतीय समाज के गले की हड्डी बनता जा रहा है।

बदलते विश्व और शैक्षिक विकास के बावजूद अभी भी भारतीय राजनीति में एक वर्ग ऐसा है जिसका पाषाण युग से बाहर निकलना और विकसित होना जरूरी हैं।...

New World order and India ! बदलती वैश्विक परिस्थितियों में भारत का स्थान ? क्या भारत किसी भयावह स्वप्न की ओर बढ़ रहा है ?

भारतीय संसद में सबसे महत्वपूर्ण सेशन चल रहा है जिसमे वित्त विधेयक को पारित होना होता है जिसे एक प्रकार से सरकार के प्रति विश्वास प्रस्ताव के रूप में भी देखा जा सकता है क्योंकि यदि वित्त विधेयक पास ना हो तो सरकार को इस्तीफा देना पड़ता है।...

विवादित फैसला या फैसले पर विवाद ! पंजाब की चुनावी राजनीति पर सब भारी, घट रही है दुनियादारी।

यदि यह कहा जाए कि गत कुछ वर्षो से भारत एक लोकतंत्र अथवा विकासशील देश के स्थान पर चुनावी देश बन चुका है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।...

भारत के भविष्य को लेकर खतरनाक संकेत ! यही समय है जब विचारकों और बुद्धिजीवियों को खुलकर सामने आना चाहिए।

भारत के कर्नाटक राज्य में कुंडूपुर कॉलेज के प्रिंसिपल ने अचानक कुछ हिजाब पहनकर आने वाली मुस्लिम छात्राओं को कॉलेज में आने से मना कर दिया गया। जिसके विरोध में छात्राओं ने स्कूल के गेट पर बैठकर अपनी पढ़ाई शुरू कर दी लेकिन प्रशासन ने इसे धार्मिक मुद्दा बना दिया और इस आग में घी डालने का प्रयत्न किया स्थानीय घिनौनी राजनीति ने...

भारत रत्न स्वर कोकिला लता मंगेशकर 92 वर्ष की अवस्था में अपना शरीर त्याग कर विदा हो गई।

92 वर्ष की अवस्था, अंगिनित गाने, भारत की लगभग सभी भाषाओं में गाए गए गीत, समस्त युगों और काल खंडो को दिए गए स्वर बेशक सदैव अमर है लेकिन शरीर अब नहीं रहा।...

मोहे अपने ही रंग में रंग दे री, महबूब ए इलाही .......अमीर खुसरो।

मुग़ल काल और सर्दियों की समाप्ति के बाद बसंत ऋतु का आगमन, खेतो मे सरसो के फूलों की रंगत तथा एक नए वर्ष का स्वागत। मौसम के स्वागत में गांव गांव में उत्साह तथा सूफी फकीरों का धमाल...

घिनौनी सियासी साजिशों का शिकार होता पंजाब और पंजाबियत आज भी जिंदा क्यों है और कब तक रहेगी ?

रूहें जमीन पर दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप का एक हिस्सा जिसे पंजाब के नाम से जाना जाता है निसंदेह सबसे खूबसूरत और प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है।...

जब तक दुनिया हर शख्स अंधा नहीं हो जाता यदि तब तक भी आंख के बदले आंख का नियम जारी रखा जाए तो भी अंतिम व्यक्ति काना बच जाएगा।

और इस प्रकार अपनी आज़ादी की लड़ाई लडने वाले बलोच लिबरल आर्मी के लड़ाकों ने पाकिस्तानी सेना पर सशस्त्र हमला किया। ( यह भारतीय मीडिया का वर्जन है ) भारती इमदाद और साजिशों के नताइज में बलोच दहशतगर्दों ने एफसी कैंप पर फिदायीन हमले की कोशिश की जिसने दस जांबाज़ शहीद और चार दहशतगर्द जहन्नुम रवाना ( यह पाकिस्तानी मीडिया की हेडलाइन है )...

भारतीय विदेशनीति का दुर्भिक्ष काल !

विदेशनीति में माना जाता है कि कोई किसी का स्थाई शत्रु या मित्र नहीं होता और अपना नेशनल इंट्रेस्ट ही सबसे उपर होना चाहिए लेकिन यदि कोई शत्रुतापूर्ण नीतियों पर उतर आए तो उसे अपने स्वाभिमान के लिए आइना दिखाना भी जरूरी होता है।...

सुकरात, अरस्तू, चाणक्य, चार्वाक से लेकर बंदा बहादुर और सर छोटेलाल तक एक लम्बी फेहरिस्त है जिन्हे राजनीतिक दर्शन का प्रेरणा स्रोत बताया जा सकता है।

भारतीय संसद का बजट सत्र और इसमें राष्ट्रपति का भाषण जिसके आधार पर बजट सत्र में बहस होती हैं। यह सत्र इसलिए भी महत्वपूर्ण होता है कि यदि इस सत्र में वित्त विधेयक पास ना हो तो सरकार को इस्तीफा देना पड़ता है।...

दिल्ली में सिख बच्ची के साथ हुई अमानवीय घटना के बाद प्रशासनिक असफलता और सरकारी निकम्मे पन के कारण अफवाहों का जोर।

26 जनवरी भारत में संविधान लागू होने का दिवस और गणतंत्र दिवस समारोह की परेड में राष्ट्रपति द्वारा सलामी कार्यक्रम।...

Load More