ਬੇਬੇ ਨੇ ਖ਼ਸਮ ਕਿੱਤਾ, ਬਹੁਤ ਮਾੜਾ ਕਿੱਤਾ ਕਰਕੇ ਛੱਡ ਤਾਂ, ਹੋਰ ਵੀ ਮਾੜਾ ਕਿੱਤਾ ।।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने चुनावी भाषणों में अपने वोटरों को भारतीय प्रतिभाओं से सचेत रहने की चेतावनी देते हुए कहा था कि Indian mind-set अमेरिकी नागरिकों के रोजगार पर काबिज होने की क्षमता रखता है।

अभी अधिक समय नहीं हुआ है जब भारत में प्रधानमन्त्री डॉ मनमोहन सिंह को उनके विचारों और बुद्धिमत्ता एवम् ज्ञान के लिए दुनियां भर में सम्मान पूर्वक सुना जाता था। आज़ादी के बाद से या महात्मा गांधी से लेकर नेहरू, इंदिरा गांधी, अटल बिहारी, राजीव गांधी और डॉ मनमोहन सिंह की भारतीय सरकारें अपने किसी न किसी विजन के लिए पहचानी जाती थी लेकिन लगता है कि वर्तमान सरकार अपने हास्यास्पद निर्णयों और लानत मलानत के लिए इतिहास में अमर होने वाली है।

भारत का हिंदी भाषी उत्त प्रदेश राज्य सर्वाधिक आबादी के कारण अलग ही चुनावी महत्व रखता है और वहां की जनता को धर्म आधारित भावनाओ से अपने पक्ष में वोटर बनाना नेताओ का लक्ष्य होना स्वाभाविक ही है।

इसी हिन्दुत्व को ताकत देने के उद्देश्य से सरकार ने एक रामायण विशेष ट्रेन शुरू की जिसके उद्घाटन समारोह में रामलीला की तरह राम लक्ष्मण और सीता के स्वरूप प्लेटफार्म पर घुमाए गए तथा उसमे वेटर को साधु संतो वाले कपड़े पहनाकर चाय नाश्ता सर्व करने से लेकर जूठे बर्तन उठाने के लिए नियुक्त किया गया।

शायद सरकार या रेलवे विभाग भूल गया कि यूनिफॉर्म का अपना कोई महत्व होता है जैसे सैनिक या पुलिस कर्मचारी यदि वर्दी में न हो तो साधारण व्यक्ति से भी कमजोर हो सकता है। इसके अतिरिक्त भारतीय प्रधान मंत्री जी तो खुद कह चुके हैं कि कपड़ों से इंसान की पहचान हो जाती हैं।

बहरहाल साधु संतो के चोले में रुद्राक्ष धारण किए हुए वेटर जब जूठन उठाने लगे तो जनता ने विरोध जताया और सोशल मीडिया पर कथित हिन्दुत्व वादी समूहों एवं सनातन धर्म के साधु संतो से जवाब मांगा जाने लगा कि सरकारी दान के लालच में वो सन्यासी वेशभूषा का अपमान होने पर भी चुप क्यों है 

अंततः भारतीय रेलवे के मूर्ख अधिकारियों या सरकार को ज्ञान का प्रकाश दिखाई दिया तथा अब निर्णय लिया गया है कि इस वेशभूषा को जारी नहीं रखा जाएगा इसके लिए दूसरी यूनिफॉर्म लागू की जा रही है।

रेलवे ने अपने बयान में "असुविधा के लिए खेद है" लिखकर चेप्टर क्लोज़ कर दिया बेशक सरकार की भी हिम्मत नहीं है कि वो उस अधिकारी की मानसिक स्थिति और बौद्धिक स्तर की जांच कराए जिसने यह यूनिफॉर्म लागू करने का निर्णय लिया था।

फिल्म प्रोमोशनस के लिए रेलवे को मिला बॉलीवुड से तगड़ा रिस्पॉन्स

गैर किराया राजस्व बढ़ाने की नीति के प्रचार ट्रेन चलाने की नीति बनाते ही तहत भारतीय रेलवे को बॉलीवुड से तगड़ा रिस्पॉन्स मिला है। ...

भारतीय रेलवे ने दिया तीर्थयात्रियों को तोहफा, जल्द ही दिल्ली-कटरा के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस

भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने आज जानकारी देते हुए बताया कि दिल्‍ली-कटरा वंदे भारत एक्सप्रेस का ट्रायल पूरा हो गया है। ...

स्वंत्रता दिवस की तैयारियां ज़ोरों पर, दिखा दिल्ली के युवाओं का जोश

भारतीय रेलवे ने स्वंत्रता दिवस समारोह को खास बनाने के लिए दिल्ली में तिलक ब्रिज रेलवे स्टेशन को रंगने का फैसला किया है। ...

मध्‍य प्रदेश का हबीबगंज रेलवे स्‍टेशन बनेगा देश का पहला वर्ल्‍ड क्‍लास स्‍टेशन

देश में रेलवे स्‍टेशनों के पुनर्विकास के तहत मध्‍य प्रदेश के हबीबगंज रेलवे स्‍टेशन में काम सबसे पहले पूरा होने वाला है। ...

रेल मंत्री ने चार महीनों में सभी रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त WiFi उपलब्ध कराने की जताई उम्मीद

गूगल कल्चरल इंस्टीट्यूट के सहयोग वाली ‘द रेलवेज- लाइफलाइन ऑफ द नेशन’ परियोजना पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शिरकत की। ...

उत्तर रेलवे: इस साल के दौरान महिला डिब्बे में यात्रा कर रहे 1400 पुरुष यात्री गिरफ़्तार

रेल पुलिस बल ने उत्तर रेलवे क्षेत्र में महिला डिब्बों में यात्रा करने को लेकर इस साल लगभग 1400 पुरूष यात्रियों को गिरफ़्तार किया। ...