बचपन में मेरे लिए कपिल देव से बड़ा कोई खिलाड़ी नहीं था: इरफान पठान

भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान का कहना है कि जब वह छोटे थे उस समय टीम इंडिया के विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव से बड़ा कोई खिलाड़ी नहीं था। इरफान ने कहा कि मैं 1984 में पैदा हुआ था और मुझे अपने छोटेपन की एक फोटो याद है जब कपिल देव लॉर्ड्स की बालकॉनी में खड़े होकर विश्वकप ट्रॉफी उठा रहे थे। वसीम अकरम ने मेरे करियर के दौरान मुझे काफी प्रेरित किया लेकिन मुझे नहीं लगता कि जब मैं बड़ा हो रहा था उस समय कपिल देव से बड़ा कोई खिलाड़ी था।

उन्होंने कहा कि वह टीम के कप्तान थे, बल्ले से मैच जिताते थे और गेंद को भी स्विंग कराते थे। अगर भारत में कोई ऑलराउंडर बनना चाहता है तो कपिल से बेहतर प्रेरणास्रोत्र नहीं है। जब हम छोटे थे उस समय लोग हमें बताते थे कि किस तरह उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ हारा हुआ मैच जिताया। पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि आप चाहते हैं कि आपका हीरो मजबूती से खड़ा रहे और उस समय लड़े जब सभी लड़खड़ा गए हों। सबसे बड़ी बात यह है कि आप अपनी टीम का बोझ अपने कंधों पर उठाएं।

इरफान ने कहा कि मेरी कपिल पाजी के साथ पहली याद मैच की नहीं बल्कि एक विज्ञापन से है। मैंने उनके कुछ मुकाबले ही देखे हैं क्योंकि उस दौरान ज्यादातर मैच लाइव नहीं दिखाए जाते थे। अगर दिखाए भी जाते तो हम नहीं देख पाते क्योंकि उस समय हमारे घर टीवी नहीं था और हमें अपने पड़ोसी के घर जाना पड़ता था।