'आत्मनिर्भर भारत' का अनुसरण कर आरसीएफ बना आत्मनिर्भर, खुद तैयार किया शैल असेंबली जिग (न्यूज़नंबर खास खबर)

Last Updated: Aug 01 2020 20:01
Reading time: 0 mins, 54 secs

पीएम नरिंदर मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' का अनुसरण करके आरसीएफ कई उपकरणों को लेकर 'आत्मनिर्भर' बन रहा है। इस कड़ी में आरसीएफ प्रशासन ने अब तक 75 लाख रुपये खर्च करके ट्रेड किए जाने वाले 'शैल असेंबली जिग' कम समय और कम लागत से आरसीएफ में तैयार करने शुरू कर दिए हैं। नव‌निर्मित जिग का उद्घाटन आरसीएफ के जीएम रवींदर गुप्ता की उपस्थिति में टूल रूम शॉप के सबसे सीनियर कर्मचारी अर्जुन सिंह से करवाया गया।

जीएम रवींदर गुप्ता ने बताया कि इस नए जिग की स्थापना से शैल निर्माण के लिए जिगों की संख्या 12 हो गई है। इससे पहले 10 जिग आरसीएफ प्रशासन की ओर से ट्रेड किए गए थे। जबकि दो जिग आरसीएफ ने खुद तैयार किए हैं। इससे पहले जनवरी में पहला जिग बनाया गया है। इस जिग को तैयार करने में करीब दो माह का समय लगा है और करीब इसकी लागत अन्य जिगों से 40 प्रतिशत कम आई है। उन्होंने दावा किया कि इन जिगों में कोच का बाहरी ढांचा असैंबल किया जाता है। 12 जिग से अब आरसीएफ प्रतिमाह 15-16 कोच तैयार करने के सक्षम हो जाएगा।