Loading the player...

Bhai Ram Singh was one of pre-partition Punjab's foremost architects, dominating the scene for nearly 2 decades. Amongst his works is the Durbar Room, Osborne House, on the Isle of Wight, England; Lahore Museum and Governor's House in Shimla.

शराब ना पीने वाला शराबी ! भारतीय सिनेमा जगत में कामयाब शराबी का चरित्र निभाने वाला व्यक्ति जो शराब नहीं पीता था।

मुंबई की बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में वैसे तो बहुत से सितारे हुए है जिन्हे बतौर हीरो याद किया जाता है लेकिन कुछ ऐसे चरित्र कलाकार भी हुए हैं जिनकी एक्टिंग हीरो से भी ज्यादा याद रखी जाती हैं। ऐसे ही एक केशटो मुखर्जी कभी नहीं भूलते जिन्होंने सबसे ज्यादा शराबी होने के रोल अदा किए। ...

अफगानिस्तान से चीन तक बदलते हालात ! भारत के लिए चुनौती, चेतावनी या खुद को सिद्ध करने का मौका !

पिछले चार दिनों में हुई हलचल से अफगानिस्तान से लेकर कश्मीर होते हुए तिब्बत तक की बदलती परिस्थितियों के बीच भारत के लिए चुनौती, चेतावनी या समझदारी से काम करने की आवश्यकता है ? ...

Sophia Duleep Singh The great Punjaban will be honoured by Britishers

ਯੁ ਕੇ ਵਿੱਚ ਸਿੱਖ ਰਾਜ ਦੀ ਸੋਫੀਆ ਦਲੀਪ ਸਿੰਘ ਦਾ ਬੁੱਤ ਲਾਣ ਦਾ ਵਿਚਾਰ ਕੀਤਾ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ। ਸਿੱਖ ਰਾਜ ਦੀ ਰਾਜਕੁਮਾਰੀ ਬਾਰੇ ਕੁਛ ਜਾਣਕਾਰੀ ...

अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा पेगासस जासूसी कांड का खुलासा होने के बाद भारत की मोदी सरकार के विरूद्ध रोष बढ़ता जा रहा है।

वैसे तो भारत सहित दुनिया के कई देशों, विशेषकर थर्ड वर्ल्ड में फोन टैपिंग जैसे कांड होते रहे हैं बेशक यह असंवैधानिक एवम् मानवाधिकारों का हनन है। लेकिन जिस प्रकार पेगासस जासूसी मामले का खुलासा हुआ है एवम् इसे सख्ती से सरकार विरोधी अहम मुद्दा बना दिया गया है इससे शासक वर्ग में चिंता होना स्वाभाविक है। दिल्ली में युवा कांग्रेस द्वारा संसद की ओर प्रदर्शन करते हुए मार्च निकाला गया तो पत्रकारिता पर आंच आती देखकर पत्रकार संगठनों द्वारा भी अपना अपना विरोध दर्ज कराया गया। ...

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले... मगर क्या मालूम था कि उनकी कुर्बानी भुला देंगे।

बहुत सुना था कि आज़ादी की लड़ाई में लडने वालो और शहीदों को सम्मान के साथ आज़ाद हिंदुस्तान में सिर उठाकर जीने का मौका मिलेगा लेकिन भगत सिंह के साथी ने आज़ादी से पहले भी और बाद मे भी केवल संघर्ष का सामना किया। ...

डिप्लोमेटिक नाटक का अंत जिसके कारण पाकिस्तान की सरकार को बैकफुट पर आना पड़ा।

दो दिन पहले दुनियां भर के राजनयिक क्षेत्रो मे हलचल मच गई जब समाचार मिला कि पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी का अपहरण हो गया है। ...

भारतीय सिनेमा की प्लेबैक सिंगर की फेहरिस्त में एक नाम जिसे भुलाया नहीं जा सकता।

भारतीय सिनेमा जगत ने एक से बढ़कर एक नायाब सितारों से खुद को सजाया है और उन्हें तो विशेष रूप से याद रखना चाहिए जिन्होंने समाज को चुनौती देते हुए अपना मुकाम हासिल किया। ...

एक चुटकी सिंदूर की कीमत सुनते ही जो चेहरा याद आता है उसका नाम है राजेश खन्ना। भारतीय सिनेमा का पहला सुपर स्टार।

भारतीय सिनेमा का युग वैसे तो दादा साहब फाल्के और सोहराब मोदी से लेकर पृथ्वीराज कपूर और दिलीप कुमार से होता हुआ यहां तक पहुंचा है लेकिन अभी को जनता द्वारा व्यापक समर्थन मिलने के बावजूद किसी को सुपर स्टार नहीं कहा गया । फिर 1942 में जन्मा एक ऐसा कलाकार मुंबई पहुंचा जिसकी हेयर स्टाइल और पैंट्स के उपर कुर्ता पहनना एक ट्रेंड बन गया। उस कलाकार को दुनिया राजेश खन्ना के नाम से जानती है। ...

18 जुलाई नेल्सन मंडेला दिवस के रूप में विश्व के उस महामानव के नाम जिसने रंगभेद के विरूद्ध अपने जीवन को दांव पर लगा दिया।

सभे की जात एके पहचानबो, और एक नूर से सब जग उपज्यो जैसे महामंत्रों को जीवन में उतारने और इनके लिए संघर्ष करने वाले यदि किसी महामानव का वर्तमान काल में उल्लेख किया जाना चाहिए तो निसंदेह वो नेल्सन मंडेला ही है जिन्हे पहले विदेशी नायक के रूप में भारत सरकार ने भारत रत्न सम्मान से सम्मानित किया था उनके जीवन चरित्र पर कुछ शब्द उर्मिलेश उर्मिल साहब के सहयोग से। ...

यदि दक्षिण भारत को छोड़ दिया जाए तो हिंदुस्तान में सिर ढकना आदर और अदब माना जाता रहा है। टोपियों का इतिहास !

वैसे तो सदियों से उत्तर भारत की सभ्यताओं में विध्यांचल से लेकर हिंदुकुश तक सिर ढकना सम्मान एवम् संस्कृति का हिस्सा रहे है लेकिन पहले पगड़ी के नाम पर लंबा कपड़ा लपेट लिया जाता था फिर टोपियां प्रचलन में आई जिनके विभिन्न प्रकार प्रचलन में हैं। उसी की रोचक जानकारी एवम् इतिहास। ...

आजादी की लड़ाई का एक ऐसा अध्याय जिसकी चर्चा बहुत कम होती हैं लेकिन यह नेहरू जी के जीवन का अटूट हिस्सा है।

अंग्रेजी साम्राज्य के विरूद्ध चली आज़ादी की लड़ाई का एक ऐसा अध्याय जो सिद्ध करता है कि कैसे हिन्दुस्तानियों ने जान की बाजी लगाकर भी इसमें जीत हासिल की। ...

एक ऐसे जांबाज योद्धा के जन्मदिन पर बधाई जिसने 1971 के युद्ध में दशम पिता की वाणी को सत्य कर दिखाया।

1971 का भारत पाक युद्ध और श्रीनगर पर पाकिस्तानी वायुसेना का हमला जिसकी उम्मीद नहीं थी लेकिन लुधियाना में जन्मे गुरसिख ने इतिहास कायम करके दिखा दिया। ...