प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी और शिअद बादल प्रधान सुखबीर बादल का फूंका पुतला

Last Updated: Jun 29 2020 19:30
Reading time: 2 mins, 12 secs

पंजाब के किसानों, मज़दूरों और आढ़तियों के हक में आम आदमी पार्टी (आप) हलका सुल्तानपुर लोधी की टीम ने लॉकडाउन दौरान मोदी सरकार की ओर से थोपे गए आर्डीनेंसों का समर्थन कर रहे शिरोमणि अकाली दल के खिलाफ पुल तलवंडी चौधरियां सुल्तानपुर लोधी में रोष प्रदर्शन करते हुए प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी और शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल का पुतला फूंका। आम आदमी पार्टी हलका सुलतानपुर लोधी के सीनियर नेता प्रदीप पाल सिंह थिंद, अंग्रेज सिंह मेहमदवाल, सतनाम सिंह मोमी, मोहम्मद रफी ने कहा कि कैसे सुखबीर बादल ने अपनी पत्नी हरसिमरत बादल की कुर्सी बचाने के लिए पंजाब की खेती बेच दी। यह खुलासा पंजाब सरकार की तरफ से बुलाई आल पार्टी मीटिंग में सुखबीर बादल के किसान विरोधी आर्डीनेंसों के हक में बोलने से हुआ, क्योंकि सरकार की आल पार्टी मीटिंग में सभी पार्टियां एकजुट होकर इन आर्डीनेंसों के ख़िलाफ़ प्रधानमंत्री को मिलने के लिए सहमत थी, जबकि सुखबीर बादल इसके विरोध में थे। मोदी सरकार की ओर से थोपे गए आर्डीनेंसों का समर्थन करने से यह अब स्पष्ट है कि भाजपा के साथ शिरोमणि अकाली दल भी पंजाब विरोधी है।

इसलिए प्रधान मंत्री नरिंदर मोदी और सुखबीर बादल के पंजाब विरोधी फ़ैसले विरुद्ध ‘आप’ की तरफ से दोनों के पुतले फूंके गए हैं। प्रदीप पाल सिंह थिंद ने केंद्र की मोदी सरकार की तरफ से खेती संबंधित लाए तीन आर्डीनेंसों को फसलों के कम से कम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और पंजाब के मौजूदा मंडीकरण ढांचे को ख़त्म करने वाले कदम करार देते हुए कहा कि सूबे के किसानों, मज़दूरों और आढ़तियों समेत कृषि पर निर्भर सभी वर्गों के साथ एक घातक खेल खेला जा रहा है। मोदी सरकार इन तीनों आर्डीनेंसों के माध्यम से बड़ी निजी कंपनियों और अंबानी-अडानी का पंजाब -हरियाणा के खेतों और मंडियों पर कब्ज़ा करवाना चाहते हैं। सतनाम सिंह मोमी ने कहा कि इन मोदी सरकार के घातक आर्डीनेसों के द्वारा जब कॉर्पोरेट घरानों की पंजाब में ‘एंट्री’ हो गई तो मक्का, गन्ने और दालों की तरह गेहूं और धान का कम से कम समर्थन मूल्य (एमएसपी) निरर्थक हो जाएगा और पंजाब के किसान कौड़ियों के मूल्य फसलें बेचने और भुगतान के लिए महीनों-सालों ठोकरें खाने के लिए मजबूर होंगे। जबकि आढ़ती, मुनीम, पल्लेदार, चालक, ट्रांसपोर्ट की कृषि क्षेत्र में से अस्तित्व ही खत्म हो जाएगा।

हरप्रीत सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार के किसान विरोधी तीनों ही आर्डीनेंसों के ख़िलाफ़ आते सेशन में आम आदमी पार्टी ‘‘प्राइवेट मैंबर बिल’’ लाएगी, यदि सुखबीर बादल किसान हितैषी हैं तो उस बिल की सपोर्ट करें। इस मौके सुक्खा मियानी, अवतार सिंह, सुक्खा शिकारपुर, पिंदर काहना, जसपाल सिंह बूसोवाल, परविंदर तलवंडी चौधरियां, हरजिंदर सिंह बूड़ेवाल, पाखर सिंह, तिलक राज, मनजीत सिंह सुल्तानपुर लोधी आदि आप के वालंटियर्स मौजूद थे।