पंजाब सरकार ने नशा पीड़ितों को मुख्यधारा में लाने के लिए किए सार्थक प्रयासः राणा गुरजीत सिंह

Last Updated: Jun 28 2020 19:15
Reading time: 1 min, 58 secs

ज़िला डी-एडिक्शन व रिहेब्लीटेशन सोसायटी कपूरथला की ओर से नशाखोरी व तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस संबंधी एक समागम आयोजित किया गया। नवजीवन केंद्र में करवाए गए इस ज़िला स्तरीय समागम में विधायक राणा गुरजीत सिंह मुख्यातिथि के तौर पर शामिल हुए। इस मौके नशों से होने वाले बुरे प्रभावों, नशों के कारणों, इलाज व नशा करने वाले लोगों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए विशेष चर्चा की गई। राणा गुरजीत सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से राज्य को नशामुक्त करने के लिए एक विशाल मुहिम चलाई गई है, जिसके बढ़िया परिणाम सामने आ रहे हैं।

इस मुहिम तहत नशा पीड़ितों को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए विशेष प्रयत्न किए जा रहे हैं। जिसका सबूत नशा छोड़ने के लिए दवाई लेने वालों की संख्या में हुई भारी बढ़ोतरी से मिलता है। नशा करने वाले व्यक्तियों को मदद की जरुरत होती है न कि सजा की। उन्होंने ज़िला प्रशासन की ओर से कोविड-19 दौरान चलाए गए एक अलग प्रोजेक्ट मोबाइल ओट क्लीनिक की सराहना की। जिससे नशा पीड़ित व्यक्ति को दवाई लेने में बड़ी राहत मिल रही है। उन्होंने 'डव' नाम का नया प्रोजेक्ट लांच किया। जिसका पूरा नाम ड्रग (ओपियाड) ओ‌वरडोज एजुकेशन एंड मैनेजमेंट प्रोजेक्ट है।

इस प्रोजेक्ट के तहत डाक्टरों, सेहत कर्मियों, एनजीओ आदि को ड्रग ओवरडोज की निशानियां व इसके बचाव बारे जानकारी दी जाएगी। ज़िला डी-एडिक्शन व रिहेब्लीटेशन सोसायटी कपूरथला की ओर से यह प्रोजेक्ट सभी ज़िले में जागरुकता मुहिम जैसा चलाया जाएगा। इसमें ज़िला प्रशासन व पुलिस की ओर से खास तौर पर पहचान किए ज्यादा नशा करने वाले इलाकों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने कपूरथला में चल रहे नशा मुक्त प्रोग्राम संबंधी एक ब्रॉशर भी जारी किया। एसडीएम वरिंदरपाल सिंह बाजवा ने बताया कि पूरे देश में सिर्फ कपूरथला ही एक ऐसा शहर है। जहां एक स्थान पर नशा मुक्त के इतने सारे प्रोजेक्ट एक साथ चल रहे हैं।

आज के समागम के लिए पंजाब सरकार के अलावा अलाइंस इंडिया एंड ग्लोबल फंड की ओर से भी सपोर्ट की गई है। इस अवसर पर एसपी मनदीप सिंह, डीएसपी सतनाम सिंह, एसएमओ डॉ. तारा सिंह, नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन मनोज भसीन, विशाल सोनी, विकास शर्मा, अमरजीत सिंह सैदोवाल, विनोद सूद, पप्पू धिंजन, दीपक सलवान, टीटू भसीन, डॉ. गीताजंलि, बलजिंदर सिंह, सर्बजीत कौर, राकेश शर्मा, शमिंदर कौर, जसवीर कौर, गगनदीप कौर, गुरजीत कौर, वीना रानी, मनजीत कौर, शरणजीत कौर के अलावा अन्य स्टाफ मौजूद था।