कोरोना दौरान सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों व स्टाफ ने जी-जान से दी सेवाएंः राणा गुरजीत सिंह

Last Updated: Jun 02 2020 20:02
Reading time: 1 min, 40 secs

कोरोना महामारी दौरान सरकारी अस्पतालों और यहां के मेडिकल स्टाफ की तरफ से जी-जान के साथ दी गई सेवाओं बेहद प्रशंसनीय हैं। यह विचार विधायक राणा गुरजीत सिंह ने मंगलवार को सिविल अस्पताल के मेडिकल वार्ड की कायाकल्प करने के बाद इसको जनसमर्पित करने के दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सरकारी अस्पतालों के मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ ने जिस तरह अपनी जानें जोखिम में डालकर महारत के साथ काम किया है, उसका कोई मुकाबला नहीं। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल के मेडिकल वार्ड को नया रूप देकर आज जनसमर्पित किया गया है। अब अस्पताल के सर्जिकल वार्ड की दशा सुधारने का काम भी योजनाबद्ध तरीके से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी दौरान उनके मन में एक ही बात थी कि किसी तरह मानवता की सेवा की जाए। इसलिए उन्होंने सिविल अस्पताल के 40 बैंडों वाले मेडिकल वार्ड को चुनकर इसको सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ लैस करने का बीड़ा उठाया।

उन्होंने बताया कि इसके अंतर्गत वार्ड की फ़र्शों, टाइलों, वाशरूमों आदि को नया रूप देने के अलावा बैंडों, टेबलों, पंखों, गद्दों, बैड शीटें आदि की दशा सुधारी गई है। इसी तरह वार्ड में मरीज़ों के साथ आने वाले बच्चों के लिए एक ट्राय रूम भी तैयार किया गया है, जिससे छोटे बच्चे अस्पताल आने के दौरान मनोरंजन के साथ जुड़ सकें। उन्होंने कहा कि अब यह वार्ड आलीशान बन चुका है और अब जल्द ही सर्जिकल वार्ड की कायाकल्प की जायेगी और अस्पताल की एंबुलेंस को भी नया रूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी दौरान नौजवान वालंटियरों की टीम भी सिविल अस्पताल में अपनी सेवाओं दे रही है, जिसके अंतर्गत 22 नौजवानों ने प्रशिक्षण प्राप्त की है। इस मौके पर एसएमओ डॉ. तारा सिंह, डॉ. संदीप धवन, डॉ. रवजीत सिंह, नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन मनोज भसीन, मार्केट समिति के उप चेयरमैन राजिंदर कौड़ा, नरिंदर सिंह मनसू, विशाल सोनी, विकास शर्मा, कुलदीप शर्मा, सुरिंदर पाल सिंह खालसा, मुनीश अग्रवाल, करण महाजन, हरजीत सिंह बब्बा के अलावा अस्पताल का मेडिकल स्टाफ उपस्थित था।