Loading the player...

प्रेम संसार का सबसे पवित्र बंधन है, पर सच पूछो .. तो यह बंधन से मुक्ति है स्वतंत्रता है नहीं समझे? समझाता हूँ यदि कोई आपका प्रेम ठुकरा दे यदि कोई आपका प्रेम समझ ही न पाए तो क्या होगा? कुछ उदास हो जायेंगे कुछ छल करके प्रेम पाना चाहेंगे.. तो कुछ बलपूर्वक प्रेम पर अधिकार करना चाहेंगे.. किन्तु यह आवश्यक नहीं कि जिससे आप प्रेम करते हो .. उसे भी आपसे प्रेम हो

Last Updated: Aug 31 2020 11:57
Reading time: 0 mins, 20 secs

प्रेम संसार का सबसे पवित्र बंधन है, पर सच पूछो .. तो यह बंधन से मुक्ति है 

स्वतंत्रता है नहीं समझे? समझाता हूँ यदि कोई आपका प्रेम ठुकरा दे

यदि कोई आपका प्रेम समझ ही न पाए तो क्या होगा?

कुछ उदास हो जायेंगे कुछ छल करके प्रेम पाना चाहेंगे..

तो कुछ बलपूर्वक प्रेम पर अधिकार करना चाहेंगे..

किन्तु यह आवश्यक नहीं कि जिससे आप प्रेम करते हो .. उसे भी आपसे प्रेम हो