भारत में आर्टिफिशियल इंटीलीजेंस डिजिटल लैब शुरू करने वाला है Google

Last Updated: Sep 20 2019 15:05
Reading time: 1 min, 2 secs

दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल की तरफ से बेंगलुरू में आर्टिफिशियल इंटीलीजेंस डिजिटल लैब शुरू की जाएगी। आने वाले समय में आर्टिफिशियल इंटीलीजेंस को बढ़ावा देने के लिए गूगल शैक्षणिक समुदाय, सरकार और उद्वोगों के साथ मिलकर काम करना चाहता है। माइक्रोसॉफ्ट के बाद गूगल दूसरी ऐसी कंपनी है जिसने देश में एआई डिजिटल लैब शुरू करने की घोषणा की है।

अभी तक कंपनी की तरफ से 80 हजार इंटरनेट साथियों को प्रशिक्षण दिया गया है। ये साल 2019 के अंत तक तीन लाख गांवों तक पहुंचेंगे। तमिल, तेलगू और मराठी तीन भाषाओं को गूगल सर्च, इंडिक और गूगल लेंस में जोड़ा गया है। आने वाले दिनों में गूगल डिस्कवर 7 अन्य भाषाओं में उपलब्ध मिलेगा। बच्चों के लिए आने वाला गूगल बोलो एप अब बंगाली, मराठी, तमिल, तेलगू और उर्दू में भी उपलब्ध होगा।

अभी तक 28 हजार से ज्यादा गांवों और शहरों में 8 लाख बच्चे इस एप को यूज कर रहे हैं। इस एप पर 30 लाख से भी ज्यादा कहानियां मौजूद हैं। इसके अलावा गूगल की तरफ से स्थानीय प्रकाशकों से भी करार कर डिजिटल लाइब्रेरी को मजबूत किया जाएगा। गूगल सर्च अब हिंदी में भी उपलब्ध है। आपको बता दें गूगल के लिए हिंदी दुनिया की दूसरे सबसे बड़ी भाषा बन गई है।