देश में इतिहास का सबसे बड़ा पानी संकट

Bhawna Sharma
Last Updated: Jun 14 2018 16:47

पीने के पानी की कमी को लेकर देश में तहलका मच गया है। अब जल संकट को लेकर लोगों को सतर्क भी होना पड़ेगा। नीती आयोग के जल प्रबंधन इंडेक्स के मुताबिक, इतिहास में इस बार देश सबसे बड़े पानी के संकट से जूझ रहा है। जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने नीति आयोग का जल प्रबंधन इंडेक्स जारी किया है। तकरीबन 60 करोड़ लोग पानी की भयंकर कमी से जूझ रहे हैं।

वहीं तकरीबन 75 फ़ीसदी घरों में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है। 84 फ़ीसदी ग्रामीण घरों में पाइप से पानी नहीं पहुंच पाता है। देश में करीब 70 फीसदी पानी पीने लायक नहीं है। नीति आयोग की बैठक के बाद केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि "मैंने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ विशेष बैठक बुलाने का फैसला किया है। जिसमें दिल्‍ली को अगले दो साल में वायु और जल प्रदूषण फ्री करने के लिए एक प्‍लान तैयार किया जाएगा"।