हादसे से बाल-बाल बचे स्पाइस जेट और इंडिगो विमान

Bhawna Sharma
Last Updated: Jun 13 2018 19:33

उत्तर प्रदेश के वाराणसी लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रनवे पर मंगलवार को स्पाइस जेट और इंडिगो विमान आपस में टकराने से बच गए। सूचना के आधार पर इंडिगो विमान 178 यात्रियों के साथ मुंबई के लिए उड़ान भरने ही वाला था, उसी वक्त स्पाइस जेट का विमान रनवे पर होल्डिंग प्वाइंट (अपने रुकने की जगह) से आगे निकल गया। एयर ट्रैफिक कंट्रोल के अलर्ट के बाद इंडिगो विमान के पायलट ने उड़ान रद्द कर दी, जिससे हादसा टल गया।

स्पाइस जेट के अधिकारी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि दो पायलटों के हवाई यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए यह स्थिति बनी। इन पायलटों को हटा दिया गया है। मामले को गंभीरता से लेते हुए, जांच डीजीसीए को सौंप दी गई है जो इस मामले में उचित फैसला लेगा। निर्देशक अनिल कुमार राय ने कहा कि स्पाइस जेट के विमान के तय स्थान से आगे आने के कारण यह स्थिति बनी। उन्होंने ये भी बताया कि यह सही है कि स्पाइस जेट (एसजी-705) के पायलट ने हवाई यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए विमान को होल्डिंग प्वाइंट से आगे बढ़ा दिया था, लेकिन उस वक्त उड़ान भर रहे इंडिगो विमान से टकराने की स्थिति नहीं थी।

2 मई को ढाका के हवाई क्षेत्र में इंडिगो-एअर डेक्कन एयरलाइन्स के बीच दूरी सिर्फ 700 फीट रह गई थी। हादसा रेजोल्यूशन एडवाइजरी की वजह से टल गया था। इंडिगो विमान और वायु सेना का जेट 24000 फीट की ऊंचाई पर दुर्घटना का शिकार होने से बचे थे, यह बात 21 मई की है। दोनों विमान एक-दूसरे से 300 फीट की दूरी पर आ गए थे। तभी रेजोल्यूशन एडवाइजरी (ऑटोमैटिक अलर्ट) जारी होने के बाद इंडिगो पायलट विमान को सुरक्षित दूरी पर ले गया। जिससे यह हादसा टल गया था।