तनाव से तंग आकार की आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज ने खुदकुशी

Bhawna Sharma
Last Updated: Jun 12 2018 18:21

मध्यप्रदेश के गुरु भय्यूजी महाराज ने तनाव से तंग आकर खुद को गोली मार ली। उस वक्त उनकी मां और पत्नी घर में ही मौजूद थे। दरवाजा तोड़ कर उन्हें बाहर निकाला गया और गंभीर हालत में उन्हें इंदौर स्थित बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। खुदकुशी से पहले उन्होंने एक अंग्रेजी में सुसाइड नोट भी लिखा था। जिसमें कहा गया है कि, "मैं जिंदगी के तनाव से परेशान हो चूका हूं इसलिए खुदकुशी कर रहा हूं मेरी मौत के लिए कोई जिम्‍मेदार नहीं है।"

जानकारी के मुताबिक महाराज ने दोपहर को सिल्वर स्प्रिंग स्थित अपने बंगले की दूसरी मंजिल पर खुद को गोली मार ली। भय्यूजी महाराज उन पांच संतों में से एक थे जिन्हें शिवराज सरकार ने प्रदेश के राज्यमंत्री का दर्जा दिया था, परन्तु उन्होंने सरकार के इस पद को ठुकरा दिया था। बता दें भय्यू महाराज ने 2011 में लोकपाल आंदोलन के समय बड़ी भूमिका निभाई थी। कहा जाता है कि अन्ना का अनशन तुड़वाने के लिए केंद्र सरकार ने भय्यू महाराज को दूत बनाकर भेजा था।