फेसबुक से फेक न्यूज़ खत्म करने के लिए उठाये ये कदम

Tarun Nayyar
Last Updated: Jun 11 2018 13:50

झूठी खबरें फैलाकर हिंसा को बढ़ावा देने के आरोपों से जूझ रही सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक कथित तौर पर अपने 'न्यूज क्रेडिबिलिटी प्रोग्राम' के लिए विशेषज्ञों की तलाश में है।

झूठी खबरों का प्रसार रोकने के लिए फेसबुक ने पिछले महीने कहा कि उसने तीन स्तरीय रणनीति अपनाई है, जिसमें उसकी नीतियों का उल्लंघन करने वाले अकाउंट और विषय-वस्तु को हटाना, अविश्वसनीय सामग्री के वितरण को रोकना और लोगों को उनके द्वारा देखे जाने वाले पोस्ट में अधिक संदर्भ प्रदान कर उन्हें सूचना देना शामिल है। फेसबुक को दुनिया के कई देशों में राजनीतिक छल-कपट में उसकी भूमिका को लेकर आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा है।

फेसबुक म्यांमार में नागरिकता से वंचित किए गए रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे पोस्ट का प्रसार रोकने में विफल रहने के कारण नस्ली संघर्ष को बढ़ावा देने के आरोप में भी जांच के घेरे में आया है।