वाराणसी में हादसा चूक नहीं, साफ-साफ लापरवाही का नतीजा

Hemant
Last Updated: May 16 2018 14:43

यह अजीब सा दस्तूर होता जा रहा है कि जब तक हादसे नहीं हो जाते तब तक सरकारें एक्शन में नहीं आतीं। मगर सवाल यह है कि हादसों पर लगाम क्यों नहीं लग रही। सवाल यह भी है कि वाराणसी में हुए इतने बड़े हादसे का जिम्मेदार कौन है। इस हादसे में अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है और 11 लोग गंभीर घायल हैं। बनारस के कैंट रेलवे स्टेशन के सामने बन रहे ओवरब्रिज पर छह बड़े गार्डर लगे थे, जिनमें एक तरफ के तीन गार्डर सीधे सडक़ पर आ गिरे थे। जिसके नीचे कारें दब गईं, एक मिनी बस दब गई पैदल चलते लोग दब गए, आटो, साइकिल और रिक्शा वाले लोग दब गए। शुरुआती जांच में पता चला कि पुल पर पत्थर के स्लैब लगाए जा रहे थे। इसी दौरान क्रेन टूटने की वजह से गार्डर नीचे से गुजर रहे लोगों और वहां खड़ी गाडिय़ों पर जा गिरा।