वाराणसी पुल हादसा: सीएम योगी पहुंचे बनारस, 48 घंटे में मांगी रिपोर्ट

Rishabh Sharma
Last Updated: May 16 2018 11:25

वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन के पास बुधवार को एक निर्माणाधीन पुल का हिस्सा ढह जाने से मलबे में दबकर कम से कम 18 लोगों की मौत हो गयी। दोपहर में हुए इस हादसे के बाद सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देर रात वाराणसी पहुंचे और हालात का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में भर्ती घायल लोगों से भी मुलाकात की और उनका हाल जाना। सीएम योगी ने वाराणसी की घटना पर दुख जताते हुए बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना की पूरी जानकारी ली है। साथ ही उन्होंने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

सीएम योगी ने कहा कि हादसे की जानकारी प्राप्त होने के बाद मैंने डिप्टी सीएम को मौके पर भेजा। उन्होंने कहा, "हादसे की जांच के लिए उच्च स्तरीय जांच टीम गठित की गई है। चार अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही जांच टीम से 48 घंटे में रिपोर्ट मांगी गई है।" उन्होंने मृतकों के परिवार के साथ संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि घायलों का उपचार हो रहा है। प्रदेश सरकार मृतक के परिजन को 5 और घायल को 2 लाख की सहायता राशि प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि आखिर फरवरी में रखी गई बीमें कैसे दुर्घटनाग्रस्त हो गईं, इसकी जांच की जाएगी।

योगी ने कहा कि हादसे को लेकर जिम्मेदार लोगों की लापरवाही तय होगी। हम किसी भी दोषी को नहीं बख्शेंगे। रिपोर्ट आते ही ठोस कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि 15 लोगों की मौत के आंकड़े हमारे पास आए हैं और 11 लोगों के घायल होने की खबर है। एनडीआरएफ और पुलिस ने बचाव कार्य अच्छे से किया। लापरवाही के लिए कहीं भी जगह नहीं, सभी अधिकारियों को हिदायत दी गई है। इस हादसे की भी जवाबदेही होगी।