प्रधानमंत्री रोजगार योजना में पिछले साल 88 फीसदी लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट, बैंकों ने लगाया अड़ंगा

Hemant
Last Updated: Feb 14 2018 20:17

बजट 2018-19 में पीएमईजीपी के तहत 7.5 लाख युवाओं को रोजगार देने का टारगेट रखा है। लेकिन अप्रैल 2017 से अब तक आंकड़े बताते हैं कि पीएमईजीपी के तहत चार लाख से ज्यादा युवाओं ने अप्लाई किया, इनमें से सिर्फ 50 हजार को ही लोन मिल पाया है। यानी कि महज 12 फीसदी बेरोजगारों को लोन दिया गया, बाकी 88 फीसदी युवाओं की एप्लीकेशन रिजेक्ट कर दी गई। पीएमईजीपी के पोर्टल के मुताबिक अप्रैल 2017 से 13 फरवरी 2018 तक चार लाख तीन हजार युवाओं ने पीएम एम्प्लांयट जनरेशन प्रोग्राम के तहत लोन के लिए एप्लाई किया। इनमें से तीन लाख 49 हजार एप्लीकेशन कलेक्टर की अगुवाई में बनी डिस्ट्रिक्ट लेवल टास्क फोर्स के सामने रखी गईं। कमेटी ने 2 लाख 52 हजार एप्लीकेशन को मंजूरी देते हुए बैंकों के लिए फारवर्ड कर दिया, लेकिन इनमें से सिर्फ 49 हजार 721 एप्लीकेशन को बैंकों ने मंजूरी देते हुए लोन सेंक्शन किया है।