सेना पर भागवत के बयान को राहुल ने बताया शर्मनाक, रिजिजू ने किया पलटवार

Last Updated: Feb 12 2018 17:55

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को भारतीय सेना से जुड़ा एक बयान दिया, जिस पर विवाद गहराता जा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को सुबह संघ प्रमुख के बयान का वीडियो शेयर करते हुए उनपर हमला बोला। हालांकि, संघ की ओर से इस बयान पर सपाई में कहा गया है कि संघ प्रमुख के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने सोमवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि संघ प्रमुख ने अपने भाषण में सभी भारतीयों का अपमान किया है, यह हर उस इंसान का अपमान है जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दी है। राहुल ने लिखा कि यह हमारे तिरंगे का अपमान है। राहुल ने इस बयान को शर्मनाक बताया और माफी मांगने की बात कही। जिसके बाद केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किरन रिजिजू ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है। किरन रिजिजू ने ट्वीट किया कि भारतीय सेना देश का गर्व है, इमरजेंसी परिस्थितियों में देश के लोग सेना के साथ खड़े होने के लिए तैयार हैं। रिजिजू ने लिखा कि भागवत जी ने कहा है कि एक आम नागरिक को सेना के जवान कीतरह तैयार होने में छह से सात महीने लग जाएंगे, लेकिन आरएसएस कार्यकर्ताओं को कम समय लगेगा। संविधान इजाजत देगा तो संघ के कार्यकर्ता सेना का सहयोग करने के लिए तैयार हैं।