शिया बोर्ड चीफ ने किए रामलला के दर्शन, कहा- कट्टरपंथी मुल्ला नहीं बनने दे रहे राम मंदिर

Last Updated: Feb 03 2018 15:17

मदरसों में आतंकी शिक्षा दिए जाने जैसे बयान को लेकर चर्चा में आए सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी शुक्रवार को अयोध्या पहुंचे। उन्होंने विवादित परिसर में विराजमान रामलला का दर्शन किए व साधु-संतों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कई मुद्दे पर अपने विचार रखे और कहा कि एक सेकुलर मुसलमान कभी भगवान राम के खिलाफ नहीं बोल सकता।

इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि कुछ कट्टरपंथी मुसलमान और मौलवी हैं, जो देश की एकता को तोड़ना चाहते हैं। इससे पहले वसीम रिज़वी ने अयोध्या में विवादित परिसर जाकर रामलला के दर्शन किए। फिर श्री राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के आश्रम पर जाकर उनसे मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो और अयोध्या से हटकर कहीं भी सौहार्दपूर्ण माहौल से मस्जिद का निर्माण किया जाए, इस विषय को लेकर हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है।

एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि विवादित परिसर पर अपना पक्ष सुप्रीम कोर्ट के सामने रखा है, किसी मुल्ला के सामने नहीं। रिज़वी ने कहा कि जिस स्थान पर रामलला विराजमान हैं, वहां पर भव्य राम मंदिर का निर्माण हो, इसकी खिलाफत कोई नहीं कर रहा।