रिटायर्ड फौजी भी पंजाब सरकार से मांग रहे सुविधाएं

Kajal Kaushik
Last Updated: Jan 08 2018 13:04

अक्सर देखा गया है कि सूबे में शहीदों और रिटायर्ड फौजियों और उनके परिवारों की तरफ सरकार द्वारा कोई भी ध्यान नहीं दिया जाता है। एक समय में देश की रक्षा करने वाले इन दूतों को खुद इनकी राज्य सरकार भी कोई सुविधा नहीं देती है। इस चीज़ से परेशान अब सूबे के रिटायर्ड फौजियों ने ठान ली है कि वह पंजाब सरकार से उनके हक की सुविधाएं लेकर ही दम लेंगे। पंजाब सरकार के लिए फौजियों की यह गर्मजोशी झेलनी बिल्कुल भी आसान नहीं होने वाली है। सूबे में तकरीबन 3.5 लाख के करीब रिटायर्ड फौजी हैं, जिन्होंने अब अलग-अलग स्थानों पर बैठकें करके यूनियन बनाने की शुरुवात कर दी है। बीते दिन फौजियों की एक मीटिंग सब डिवीज़न समाना में हो चुकी है और आज की मीटिंग नाभा में होने वाली है। मीटिंग का मुख्य एजेंडा पंजाब सरकार से मांगी जाने वाली सुविधाएं जैसे कि रेगुलर भर्तियां, टॉल टैक्स पर छूट, शहीदों की विधवाओं को पेंशन जारी करवाना आदि बताया जा रहा है।