एंड्रॉयड फोन्स तक पहुंचने की सारी लाइनें अभी व्यस्त हैं!!! (व्यंग)

Kajal Kaushik
Last Updated: Jan 05 2018 14:33

आज का विषय कुछ ख़ास नया नहीं है लेकिन अनोखा ज़रूर है। आज एक बार फिर हम अपने रीडर्स के लिये पटियाला शहर की गलियों से एक ऐसी कहानी लेकर आए हैं, जो आजकल हर बच्चे, नौजवान और हर बुजुर्ग की ज़ुबान पर है। इस कहानी की शुरुआत हुई बीते विधानसभा चुनावों से, जहां कैप्टन सरकार ने लोगों को चुनाव प्रचार के दौरान दावा किया कि सत्ता में आने के बाद उनकी सरकार कुछ ही महीनों के भीतर सूबा वासियों को एंड्रॉयड फोन्स तोहफ़े के तौर पर देगी, जिसमें हर शहर की तरह ही पटियालवियों ने भी बढ़-चढ़ कर अपना नाम रजिस्टर किया। आज कैप्टन सरकार को बने को एक साल पूरा होने को है लेकिन शहर वासियों के लिए एंड्रॉयड फोन्स तक पहुंचने की सारी लाइनें अभी तक व्यस्त हैं।

शहर में नए साल की शुरुआत से ही सभी बच्चे सरकार की बेवफाई से जुड़े कुछ नए गानों को बनाने में जुट गए हैं, जोकि अगर आप सुनेंगे तो शायद हंस-हंस कर आपका पेट भी फूल जाएगा। बॉलीवुड सिंगर बादशाह द्वारा गाया हुआ गीत 'डीजे वाले बाबू मेरा गाना बजा दो' तो आप सभी ने सुना होगा लेकिन जो इस गाने का रीमेक है वो इससे थोड़ा हटके है। पटियाला शहर के बच्चों द्वारा फोन्स ना मिलने पर इस गाने को कुछ इस कदर बदला गया है, गौर फरमाएं - कैप्टन बाबू हमें फोन दिला दो, वाट्सअप की सैर करा दो, अब तो साल बीत गया है, एंड्रॉयड के दर्शन करा दो, कैप्टन बाबू हमें फोन दिला दो। इस गीत की पंक्तियों से शहर के बच्चों ने तो फोन्स के लिए अपने इंतज़ार को सामने रख दिया है लेकिन बुजुर्ग भी इस कड़ी में कुछ कम नहीं हैं।

शहर के अलग-अलग स्थानों पर जाकर जो एक बात न्यूज़नम्बर टीम के सामने आई वो यह है कि बच्चे तो बच्चे, बुजुर्गों ने भी कैप्टन सरकार से फोन मिलने की उम्मीद बनाई हुई है। अर्बन स्टेट के निवासी गुरमीत सिंह से इस बारे में एक सवाल किया गया कि आपको क्या लगता है सर, सरकार फोन देगी या नहीं तो उनसे मिला हुआ जवाब पढ़कर आप भी हंस पड़ेंगे, जवाब आया कि रुकिए कैप्टन को नंबर मिलाता हूं और फिर वह खुद भी यह कह कर हंस पड़े कि एंड्रॉयड फोन्स तक पहुंचने की सारी लाइनें अभी व्यस्त हैं। अंत में शहर वासियों को फोन मिलेंगे या फिर उनकी उम्मीदें टूटेंगी यह दोनों ही चीज़ें पूरी तरह से कैप्टन सरकार पर आधारित हैं।

नोट: यह विचार लेखक के अपने निजी विचार हैं, NewsNumber इन विचारों के लिए ज़िम्मेदार नहीं है।