हिंदू संतों की मांग- कारसेवकों को मिले स्वतंत्रता सेनानियों का दर्जा

Last Updated: Jan 03 2018 18:02

अयोध्या में जल्द ही राम मंदिर निर्माण की मांग करते हुए कई हिंदू संतों ने मंगलवार को कहा कि सरकार को उन सभी को स्वतंत्रता सेनानियों के बराबर मानना चाहिए जिन्होंने राम जन्मभूमि आंदोलन के दौरान अपने जीवन का बलिदान किया या उस समय जेल में रहे थे। हिंदू धार्मिक संतों की एक सभा में पारित एक प्रस्ताव में कहा गया कि यह नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ सरकारों की जिम्मेदारी है कि वह उन लोगों को रामसेवकों का दर्जा दें और उनसे स्वतंत्रता सेनानी जैसा व्यवहार करें जिन्होंने राम जन्मभूमि आंदोलन के दौरान अपने जीवन का बलिदान दिया या जेल में रहे।