देवी तालाब में हुई 142वीं श्री बाबा हरिवल्लभ संगीत प्रतियोगिता

Last Updated: Dec 18 2017 21:34

जालंधर शहर के मशहूर शक्ति पीठ श्री देवी तलब मंदिर में 142वीं श्री बाबा हरिवल्लभ संगीत प्रतियोगिता करवाई गई। जिसमें भिन्न-भिन्न संगीत प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। 4 दिन तक चलने वाली इस संगीत प्रतियोगिता का आज आगाज़ हवन यज्ञ और वैदिक मंत्रों से किया गया। जिसमें मुख रूप से हरिवल्लभ कमेटी की प्रधान पूर्णिमा बेरी, डायरेक्टर एस.एस अजीमाल, जनरल सेक्रेटरी दीपक बाली, एग्जीक्यूटिव मेंम्बर्स संगत राम, कुलविंदर दीप कौर, अजय कान्त, नीलम सैन, डॉ अशोक उपाध्याय, विमल जीत कौर, पूनम शर्मा, रमेश मत्त गिल, जगदीप बावरा और रेनू बाला आदि शामिल हुए। इस अवसर पर ज्योति प्रज्वलित करने की भूमिका जालंधर शहर के डिप्टी कमिश्नर वरिंदर शर्मा और जनरल सेक्रेट्री दीपक बाली द्वारा की गई। इस प्रतियोगिता की शुरूवात एस.जी.एन पब्लिक स्कूल के अमरेन्द्र सिंह ने सरस्वती वंदना और हरिवल्लभ वंदना का गायन कर किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि वरिंदर शर्मा ने संबोधन करते हुए सभी प्रतिभागिओं को अपनी शुभकामनाएँ दी।

प्रथम दिन की इस प्रतियोगिता में संगीत और तबला वादन प्रतियोगिताएं करवाई गई जिसमें ढेरों प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिताओं की शुरूवात करते हुए पिछले साल के बाबा हरिवल्लभ संगीत प्रतियोगिता जीतने वाले प्रभजोत सिंह ने सारंगी वादन और मनसा सिंह ने तबला वादन से अपनी प्रस्तुति दी। 

पहले दिन की जूनियर कैटिगरी प्रतियोगिताओं में गायन और तबला वादन प्रतियोगिता करवाई गई। गायन प्रतियोगिता में 20 प्रतिभागिओं ने भाग लिया। जिन्होंने भारतीय रागों का तान छेड़ कर संगीत प्रेमियों का मन मोह लिया। तबला वादन प्रतियोगिताओं में कुल 22 प्रतिभागिओं ने भाग लिया। जज की भूमिका पंडित विनोद कुमार द्वेदी , पंडित अरुण कुमार झा, प्रो. रवि शर्मा द्वारा निभाई गई। 

गायन प्रतियोगिता में बच्चों ने राग भैरव, राग मलकोन, राग भीम पलासी, राग यमन और तबला वादन में प्रतिभागिओं ने तीन ताल, एक ताल, चार ताल आदि की अद्भुत तान छेड़ी। जिससे संगीत प्रेमी गदगद हो गये। इस मौके संगत राम ने कहा इस सम्मेलन ने अपनी उपस्थिति लिम्का बुक तक में दर्ज़ करवाई हुई है। 

गायन प्रतियोगिता जूनियर केटेगरी में अरिजित रॉय और अमित कुमार ने पहला , सालवी ने दूसरा और साँची ने तीसरा स्थान हासिल किया।