डाक्टरों की कमी से जूझ रहा अस्पताल, पंचायत ने मुख्यमंत्री से की मांग

Avtar Gill
Last Updated: Dec 07 2017 14:53

करीब तीन दर्जन गांवों के लोगों को सेहत सुविधाएं देने वाले गांव सित्तो गुन्नों सरकारी अस्पताल में डाक्टरों की कमी को पूरा करने तथा डाक्टर की स्थाई नियुक्ति की मांग को लेकर गांव की पंचायत और समूह गांववासियों ने राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम एक मांग पत्र भेजा है।

जिला फाजिल्का के सित्तो गुन्नो स्थित सरकारी अस्पताल करीब तीन दर्जन से भी अधिक गांवों के लोगों को सेहत सुविधाएं प्रदान कर रहा है लेकिन अस्पताल में डाक्टरों की कमी तथा डाक्टरों की स्थाई नियुक्ति नहीं होने से ग्रामीणों को निजी अस्पतालों में महंगे इलाज लेना एक मज़बूरी बनी हुई है। अस्पताल में तैनात एम.डी डाक्टर को बार-बार फाजिल्का अस्पताल में नियुक्त किए जाने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। गांव की पंचायत और ग्रामीणों ने एक मांग पत्र राज्य के मुख्यमंत्री को भेजा है और उनकी इस समस्या का समाधान किए जाने की मांग की है।

भेजे गए मांगपत्र में महिला सरपंच ओमी देवी सहित पंचायत सदस्य महावीर, शिवदत्त, विनोद कुमार, सतपाल, सोहन सिंह सहित अन्य ने कहा है कि उनके गांव के अस्पताल में डाक्टरों की भारी कमी को लेकर सेहत विभाग के जिला स्तरीय अधिकारीयों सहित उच्चाधिकारियों को बताया गया है लेकिन आज तक कमी को पूरा नहीं किया गया है। यहां पर तैनात किए गए एक एम.डी डाक्टर अनमोल नागपाल को कई बार यहां से फाजिल्का डेपुटेशन पर भेज दिया जाता है जिससे कई दर्जन गांवों के लोग सेहत सबंधी जांच और दवाई लेने से वंचित रह जाते हैं। लोगों को मजबूरन निजी डाक्टरों के पास जाना पड़ता है। पंचायत ने मांग की है कि डाक्टर अनमोल नागपाल को स्थाई तौर पर नियुक्त किया जाए और डाक्टरों की कमी को भी दूर करते हुए लोगों तक सेहत सहूलियतों का लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाए और निजी डाक्टरों की लूट से ग्रामीणों को बचाया जा सके।