मजदूरों ने डीसी दफतर के बाहर किया प्रदर्शन

Mahesh Kumar
Last Updated: Oct 17 2017 20:50

मजदूरों को रिहायशी प्लाट देने की मांग को लेकर ग्रामीण मजदूर यूनियन पंजाब के नेतृत्व में काफी मजदूर स्थानीय शालीमार बाग में एकत्रित हुए। इसमें जिले भर से ग्रामीण मजदूरों व महिलाओं ने शामिल होकर बाजारों में रोष प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की और डीसी दफ्तर के बाहर धरना दिया। इस दौरान पंजाब महासचिव बलविंदर सिंह भुल्लर ने कहा कि ग्रामीण मजदूर यूनियन पंजाब की अध्यक्षता में विगत लंबे समय से मजदूरों के रिहायशी प्लाट व अन्य मांगों के लिए संघर्ष किया जा रहा है। इसमें अनेकों गांवों में ग्राम सभा के इक्ट्ठ में प्लाट के प्रस्ताव पारित करवाने के बावजूद प्लाट अलाट नहीं किए गए। जिसके बाद ब्लॉक स्तर पर पंचायत अफसरों के दफ्तरों में अपने आवेदन 30 सितंबर तक देने हेतु पंचायती विभाग को आदेश दिए गए थे। लेकिन किसी भी पंचायती अधिकारी ने इस संबंधी कोई विज्ञापन नहीं दिया और न ही महीने भर से ब्लॉक अधिकारियों ने गांवों के जरूरतमंदों को इसकी कोई सूचना दी। इस पत्र को एक साजिश के तहत बिल्कुल की गुप्त रखा गया। जिसके कारण लोक अपने आवेदन देने से वंचित रह गए और उन्होंने मांग की है कि इसकी समय सीमा में तुरंत बढ़ौतरी करके 8-8 मरले के रिहायशी प्लांट देने को यकीनी बनाया जाए और सरकारी पत्र गुप्त रखने वाले और इसकी सूचना न देने वाले जिम्मेवार अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। ग्रामीण मजदूर यूनियन के जिला सचिव निर्मल सिंह शेखूपुर सधा ने कहा कि सरकार द्वारा पत्र जारी करने के बावजूद भी आवेदन देने वाले लोगों को परेशान किया जा रहा है और आवेदन लेने से आनाकानी की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्लाटों संबंधी लाभार्थियों का चयन करने का अधिकार नौकरशाही से वापिस लेकर यह अधिकार ग्राम सभाओं को दिया जाए और ग्राम सभा द्वारा करवाए गए मत्ते के अनुसार प्लाट तुरंत अलाट किए जाएं।