चारदीवारी तोड़ने पहुंचे कालोनाइजर, लोगों के विरोध के बाद भागे

Mahesh Kumar
Last Updated: Sep 08 2017 14:35

मोती बाग कॉलोनी में एक कॉलोनाइजर की ओर से अवैध तरीके से चारदीवारी तोड़ने के कारण स्थिति तनावपूर्ण बन गई। सिटी थाना पुलिस व पी.सी.आर टीम ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को काबू में किया। वही दूसरी तरफ मोती बाग कॉलोनी के लगभग 200 निवासियों ने कॉलोनाइजर पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह 15-20 गुंडा तत्वों के साथ कथित हथियारों से लैस होकर डिच मशीन सहित पहुंचे थे और महिलाओं से कथित अभद्र शब्दावली का प्रयोग किया। कॉलोनी निवासियों की ओर से विरोध करने के बाद दीवार तोड़ने आए कॉलोनाइजर अपनी दो बोलेरो गाड़ियां, एक ऑडी कार व डिच मशीन छोड़कर भाग गए। जिसको पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। इस मौके पर टीम सहित पहुंचे सिटी एस.एच.ओ रामेश्वर व सी.आई.ए इंचार्ज जतिंदरजीत सिंह ने बताया कि कॉलोनी निवासियों की ओर से की गई शिकायत के बाद डिच मशीन को कब्ज़े में ले लिया है।

गौरतलब है कि शहर के पॉश क्षेत्र मोती बाग कॉलोनी में देर रात को तनाव की स्थिति पैदा हो गई। जिसको सिटी थाना की पुलिस टीम, पी.सी.आर टीम, क्यू.आर.टी टीम ने मौके पर पहुंच कर नियंत्रित किया। मोती बाग कॉलोनी के निवासी जगदीश सिंह, जगदेव सिंह, अवतार सिंह, बलजीत सिंह, सतीश शर्मा, जसवंत सिंह, सुखदेव  सिंह व अवतार सिंह आदि ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनकी कॉलोनी के साथ लगते हिस्से की ज़मीन को जालंधर निवासी एक कॉलोनाइजर ने सस्ते भाव में ख़रीद लिया था और वह अपनी उस क्षेत्र को इस पॉश एरिया के साथ जोड़ने के मंतव्य से 15-20 कथित गुंडा तत्वों के साथ हथियारों से लैस होकर आया और कॉलोनी की चारदीवारी को डिच मशीन से गिरा दिया। उस समय कॉलोनी में मौजूद महिलाओं ने जब विरोध किया तो उक्त लोगों ने उनके साथ बदतमीज़ी से बात की। देर शाम तक जब कॉलोनी निवासी लोग एकत्रित हुए तो सभी ने उनका विरोध किया। विरोध करने पर कॉलोनाइजर व उसके साथ आए लोग अपनी गाड़ियां व डिच मशीन छोड़ कर भाग गए। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने सारी स्थिति को नियंत्रित कर दोनों पक्षों की बात सुनने का फ़ैसला लिया।

इस सबंध में सी.आई.ए प्रभारी जतिंदरजीत सिंह व सिटी थाना प्रभारी रामेश्वर सिंह ने बताया कि डिच मशीन को काबू कर लिया है तथा मौके पर खड़ी ऑडी कार व बोलेरो गाड़ियों के मालिकों की तलाश की जा रही है। दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद जो भी बनती कारवाई होगी, उसे अमल में लाया जाएगा।