चिदंबरम ने जफर और दारापुरी की गिरफ्तारी को बताया शर्मनाक

Last Updated: Jan 05 2020 14:11
Reading time: 0 mins, 35 secs

नागरिकता कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए हिंसा मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने सदफ जफर, एस आर दारापुरी और पवन राव की गिरफ्तारी को शर्मनाक बताया है।

चिदंबरम ने ट्वीट किया, ''सदफ जफर, एस आर दारापुरी और पवन राव आम्बेडकर को पुलिस के इस बयान के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया कि हिंसा में उनकी संलिप्तता के कोई सबूत नहीं हैं। यह चौंका देने वाली स्वीकारोक्ति है।''

चिदंबरम ने कहा, ''यदि ऐसा था, तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार ही क्यों किया? और मजिस्ट्रेट ने सबूत देखे बिना उन्हें हिरासत में कैसे भेज दिया? कानून कहता है कि 'पहले सबूत, बाद में गिरफ्तारी' लेकिन हकीकत में 'पहले गिरफ्तार करो, बाद में सबूत ढूंढो' है। शर्मनाक।''