जलवायु परिवर्तन के गंभीर मुद्दे को इटली ने अपने स्कूली बच्चों के पाठ्यक्रम में किया अनिवार्य

Last Updated: Nov 08 2019 18:48
Reading time: 0 mins, 57 secs

जलवायु परिवर्तन जैसे गंभीर मुद्दे को इटली ने अपने स्कूली बच्चों के पाठ्यक्रम में अनिवार्य रूप से शामिल कर लिया है। इसी के साथ ही इटली दुनिया का पहला ऐसा पहला देश बना जिनसे जलवायु परिवर्तन को पाठ्यक्रम में अनिवार्य रूप से शामिल किया है। इस मामले में वहां के शिक्षा मंत्री लॉरेंजो फिओरामोंटी ने बताया कि अगले साल सितंबर से शुरू होने वाले सत्र में देश के सभी स्कूल जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर सप्ताह में कम से कम एक घंटा जरूर देंगे। स्थिरता और जलवायु को अपने शिक्षा मॉडल का केंद्र बनाने के लिए मंत्रालय को भी बदला जा रहा है। इसके अलावा बाकी विषयों भूगोल, गणित और भौतिकी की पढ़ाई को पहले की तरह जारी रखा जाएगा।

उन्होंने आगे कहा कि वह इटली की स्कूली शिक्षा प्रणाली को पर्यावरण और समाज में सीखी गई चीजों को मूल में रखने वाली व्यवस्था सबसे पहले लागू करना चाहते हैं। साथ ही वह चाहते हैं कि आने वाली पीढ़ी जलवायु परिवर्तन की इस त्रासदी को पहले ही समझ सके। हमारे यहां पर्यावरण मंत्रालय देश में स्कूली बच्चों के लिए अगले सत्र से नर्सरी पाठ्यक्रम लागू करेगा, इसमें बच्चे खुद पौधों के बीज लगाएंगे।