Apple ने अपने iOS से हटाए 15 फ़र्ज़ी एप्स, विज्ञापन दिखाकर करते थे कमाई

Last Updated: Oct 25 2019 13:40
Reading time: 1 min, 11 secs

एंड्रॉयड ही नहीं बल्कि iOS के प्लेटफॉर्म पर भी फेक एप्स मौजूद हैं, जिनके जरिए हैकर्स डाटा चोरी करने के साथ लीक करते हैं। इतना ही नहीं हैकर्स इन एप्स से पैसा भी कमाते हैं। मोबाइल सिक्योरिटी कंपनी Wandera ने ऐसे एप्स की पहचान की हैं, जो बेकार के विज्ञान पर दिखाकर कमाई करते हैं।

 आपको बता दें कि गूजरात की टेक कंपनी AppAspect ने इन एप्स को बनाया है। गौर करने वाली बात है कि ये  15 एप्स आईओएस प्लेटफॉर्म  मौजूद थे, जिनको अब एपल (Apple) ने अपने हटा दिया है। कंपनी के इन 15 एप्स में वायरस पाया, जिसकी वजह से यूजर्स के फोन में अपने आप वेब पेज ओपन हो जाते थे। टेक कंपनी यूजर्स की जानकारी के बिना उनके फोन में वेब पेज खोलती थी और साथ ही विज्ञापन पर क्लिक कर कमाई करती थी। रिपोर्ट के मुताबिक, इन एप्स में Clicker Torjan इंस्टॉल था, जो कि ऑनलाइन धोखाधड़ी और डाटा लीक जैसे कार्यों में काम आता था। वहीं, इस मेलवेयर का मुख्य उद्देश्य है कि कम समय में वेब पेज पर ज्यादा से ज्यादा क्लिक हो सके, जिससे कमाई की जा सकें।

वहीं गूगल ने भी सफाई अभियान चलाते हुए अपने प्ले-स्टोर से 25 एंड्रॉयड एप को डिलीट किया था। गूगल ने जिन 25 एप्स को स्टोर से हटाया है, उन सभी एप्स में एडवेयर (Adware) था। बता दें कि एडवेयर यूजर्स के फोन में फालतू के विज्ञापन दिखाता था और निजी जानकारी भी चुराता था।