अधिक मोबाइल इस्तेमाल करने वाले संभल जाएं, लोगों में बढ़ रही कमर दर्द की समस्या

Last Updated: Oct 07 2019 19:05
Reading time: 1 min, 9 secs

आज के समय में लोग प्रतिदिन घंटो तक स्मार्टफोन और लैपटॉप जैसे गैजेट्स का इस्तेमाल करते हैं। इस वजह से ही अब लोगों में कमर दर्द से जुड़ी समस्या देखने को मिली हैं। साथ ही इन डिवाइसेज से निकले वाली किरणों से भी आंखों को भी बहुत नुकसान होता है। सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसन विभाग ने इस जानकारी को साझा किया है। वहीं, डॉक्टर्स ने इस रिसर्च में पाया है कि इस 60 फीसदी से ज्यादा मोबाइल यूजर्स मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर से पीड़ित हैं। 

शरीर के जोड़ों में होने वाले दर्द को मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर कहा जाता है। वहीं, डॉक्टर्स ने कहा है कि हमने यह रिसर्च 200 से ज्यादा लोगों पर की हैं। इस शौध में 54 फीसदी लोगों की कमर में दर्द देखने को मिला है। वहीं, इन आकंड़ों में सबसे ज्यादा कंप्यूटर और फोन का उपयोग करने वाले यूजर्स शामिल हैं। कमर में दर्द लंबे समय तक एक जगह गलत तरीके से बैठने के कारण होता है। कंप्यूटर, लैपटॉप और स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से कमर के साथ गर्दन में तेज दर्द होता है। वहीं, लोगों को इन डिवाइसेज का उपयोग करने से टेक्स्ट नेक सिंड्रोम भी हो सकता है। 

डॉक्टर्स का मानना है कि लोगों को गर्दन में होने वाले दर्द को अंदेखा नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे उनकी स्पाइन कॉलम पर बुरा प्रभाव पड़ता है। साथ ही लोगों को हाथ और पैरों में कमजोरी भी महसूस होती है।