अब देश भर में सोने की हॉलमार्किंग होगी अनिवार्य

Last Updated: Oct 05 2019 18:31
Reading time: 0 mins, 59 secs

सोने की हॉलमार्किंग जल्दी ही पूरे देश में अनिवार्य हो जाएगी। वाणिज्य मंत्रालय ने इस प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए कहा कि जल्द ही इसके लिए अधिसूचना को जारी किया जाएगा। हालांकि इसे जारी करने से पहले विश्व व्यापार संगठन से इसकी मंजूरी ली जाएगी। उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने शुक्रवार को ये जानकारी दी। तय प्रक्रिया के मुताबिक, विश्व व्यापार संगठन के वैश्विक व्यापार नियमों के अनुसार, एक सदस्य देश को जिनेवा-आधारित बहुपक्षीय निकाय के साथ किसी गुणवत्ता नियंत्रण आदेश को अधिसूचित करना होता है और इस प्रक्रिया में लगभग दो महीने का समय लगता है। 

अभी देश में सोने के जेवरातों पर हॉलमार्किंग करना स्वैच्छिक है। नियम के लागू हो जाने के बाद सभी ज्वैलर्स को इन्हें बेचने से पहले हॉलमार्किंग लेना अनिवार्य हो जाएगा। अभी तक देश में स्वर्ण आभूषणों में सोने की गुणवत्ता को लेकर कोई कसावट नहीं है। ऐसे में अनजान ग्राहकों को कई मौकों पर 22 कैरेट की बजाय 21 या अन्य अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता मानकों से कम कैरेट का सोना बेच दिया जाता है, जबकि दाम उनसे अच्छी गुणवत्ता वाले सोने के वसूले जाते हैं। हॉलमार्किंग के सही ना होने की स्थिति में उन्हें पहले चरण में नोटिस जारी किया जाएगा।