फेसबुक इंक और अन्य सोशल मीडिया नही कर रही भारतीय कानून का पालन

Last Updated: Sep 16 2019 13:41
Reading time: 1 min, 3 secs

तमिलनाडु सरकार ने उच्चतम न्यायालय से बृहस्पतिवार को कहा कि फेसबुक इंक और अन्य सोशल मीडिया कंपनियां भारतीय कानूनों का पालन नहीं कर रही हैं। जिस वजह से अपराधों की जांच-पड़ताल में कठिनाई हो रही हैं। सरकार ने हाई कोर्ट में 20 अगस्त के आदेश में बदलाव का आग्रह किया जिसमें मद्रास हाई कोर्ट को सोशल मीडिया प्रोफाइलों को बायोमीट्रिक आइडेंटिटी कार्ड को आधार से जोड़ने संबंधी याचिकाओं पर सुनवाई जारी रखने का निर्देश दिया गया था, लेकिन उसे कोई प्रभावी आदेश पारित करने से रोक दिया गया था।

सरकार ने कहा कि हाई कोर्ट काफी आगे बढ़ गया है, लेकिन शीर्ष अदालत के 20 अगस्त के आदेश के चलते उसने उन याचिकाओं पर सुनवाई टाल दी थी। तमिलनाडु सरकार ने अपने जवाब में कहा, ‘‘मौजूदा मामले को तेज गति से न निपटाए जाने से याचिकाकर्ता (फेसबुक इंक) जैसी विदेशी कंपनियां भारतीय कानून का पालन किए बिना भारत में संचालन जारी रखेंगी, जिसका प्रभाव बढ़ती नियम विरुद्ध गतिविधियों, अपराधों को रोकने और उनकी जांच पड़ताल में मुश्किल तथा कानून व्यवस्था की स्थिति चरमरा जाने के रूप में निकल रहा है।’’

विभिन्न आपराधिक मामलों का जिक्र करते हुए राज्य सरकार ने कहा कि स्थानीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने कई अवसरों पर अपराधों की जांच-पड़ताल के लिए इन कंपनियों से सूचना मांगने का प्रयास किया है।