चालान कटने पर दबाव में न आए, हो सकता है ये विकल्प

Last Updated: Sep 12 2019 16:29
Reading time: 1 min, 7 secs

नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद देशभर से भारी भरकम चालान के मामले सामने आ रहे हैं। अगर आपका भी चालान कट गया और आपको लगता है कि पुलिस ने गलत चालान काटा है या फिर जुर्माने की राशि ज्यादा है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि आपका चालान वहीं मौके पर भरने की जरूरत नहीं। आपको चालान कोर्ट जाकर भरना होगा।

जब आप कोर्ट जाएंगे, वहां जाकर आपको चालान भरना ही होगा, वो भी ज़रूरी नहीं। कोर्ट जाने पर आपको ट्रैफिक पुलिस का एक रजिस्टर मिलेगा। जिसमें आपको चालान नंबर और गाड़ी नंबर के साथ दो विकल्प मिलेंगे। अपनी ग़लती कबूलने या फिर न कबूलने के। अगर आप ग़लती कबूल लेते है तो आपको जुर्माना भरना होगा। अगर नहीं , तो फिर समरी ट्रायल चलेगा और अदालती कार्रवाई में आपके द्वारा ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन साबित करने के लिए पुलिस को गवाह पेश करना होगा। अगर उपयुक्त गवाह की गवाही नहीं होती तो फिर आपको चालान नही भरना होगा।

अगर आपकी ग़लती साबित भी हो जाती है, तो फिर आपकी ओर से कोर्ट से गुहार लगने पर और आगे न ग़लती दोहराने की हिदायत के साथ कोर्ट आपका जुर्माना कम भी हो सकता है। गाड़ी जब्त होने की सूरत में आप ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी या फिर कोर्ट में ओरिजिनल दस्तावेज दिखाकर अपना वाहन वापस ले सकते है।