बिहार: एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से बच्चों की मौत का सिलसिला अब भी जारी

Last Updated: Jun 17 2019 13:25
Reading time: 0 mins, 49 secs

बिहार में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से बच्चों की हो रही मौत की संख्या बढ़ गई है। बीती रविवार को मुजफ्फरपुर के अस्पताल के आईसीयू में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और उनकी टीम की मौजूदगी में बच्चों ने दम तोड़ दिया है। वहीं आज डॉक्टरों की हड़ताल के बीच भी बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है। बताया जा रहा है कि बच्चों की मौत का कारण न केवल एईएस बल्कि गरीबी, कुपोषण और सामाजिक चेतना का अभाव भी है। मुजफ्फरपुर के सामाजिक कार्यकर्ता और पर्यावरणविद् अनिल प्रकाश पिछले कई साल से इस विषय को लेकर अपनी राय दे रहे हैं। सूचना के मुजतबिक एईएस से मौत का आंकड़ा 100 से कहीं अलग है क्योंकि ये आंकड़े तो केवल सरकारी अस्पतालों के हैं। बच्चों की मौत के आंकड़े में तो सिर्फ अस्पतालों में होने वाली मृत्यु के दर्ज किमजा रही है। कई बच्चे इलाज या फिर एंबुलेंस के अभाव में झोलाछाप डॉक्टरों और केमिस्ट के यहां जाकर आधे-अधूरे इलाज के कारण दम तोड़ रहे हैं।