शरीर में कभी न होने दें विटामिन डी की कमी, जानिए क्या है लक्ष्ण

Last Updated: May 17 2019 15:30
Reading time: 1 min, 31 secs

मानव शरीर के लिए विटामिन डी बहुत ही जरुरी होता है इसकी कमी के कारण आपको कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। बढ़ती गर्मी से शरीर में पानी की कमी, धूप की कमी और कैल्शियम की कमी ये सभी विटामिन डी की कमी के कारण हो सकते हैं। विटामिन-डी शरीर में कैल्शियम तथा फॉस्फेट के अवशोषण को बढ़ाता है। इसके अलावा हमारा खानपान भी ऐसा हो गया है कि जरूरी तत्वों की पूर्ति नहीं हो पाती। जिसके चलते हमारे शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है। ऐसे में आपको ये जानकारी होना आवश्यक है की अगर शरीर में विटामिन डी की कमी होती है तो उसे कैसे पहचाने और इसके उपचार क्या हैं? 

विटामिन-डी की कमी से शरीर में कई समस्याएं हो जाती हैं। बिना काम किए ही जल्दी थकना, जोडों में दर्द की शिकायत, पैरों में सूजन, मांसपेशियों में कमजोरी जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जांच के बाद पता चलता है कि इन लोगों में विटामिन डी की कमी है। वहीं, भारत में महिलाओं में विटमिन डी की कमी अधिक पाई जा रही है। विटामिन डी की कमी से महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस, डायबीटीज जैसी बीमारियों खतरा बढ़ रहा है। 

विशेषज्ञों के अनुसार रिफाइंड तेलों का अधिक इस्तेमाल विटामिन डी की कमी के मामले को बढ़ाता है। रिफाइंड तेलों में ट्रांस फैट होता है, जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल मॉलिक्यूल के बनने की मात्रा को कम कर देता है। कोलेस्ट्रॉल मॉलिक्यूल शरीर में विटामिन डी के निर्माण में अहम भूमिका निभाते हैं। 

विटामिन डी की कमी के लक्षण  
-हाई ब्लड प्रेशर होना, थकान महसूस करना, हड्डियों में दर्द होना, मांशपेशियों में कमजोरी महसूस होना, तनाव में रहना, बाल झड़ना, बार-बार इन्फेक्शन होना, सांस लेने में दिक्कत होना। इससे अपने आप को बचाने के लिए अपनीं डाईट में मछली, अनाज, मशरुम, अंडे, पनीर, दूध, पनीर और संतरे का रस अदि को जरूर शामिल करे।