यदि आप भी पोकेमॉन फैन है तो इस शोध के बारे में ज़रूर जानिए

Last Updated: May 09 2019 17:03
Reading time: 0 mins, 45 secs

एक नए शोध में पता चला है कि जिन लोगों ने अपने बचपन में पोकेमॉन वीडियोगेम खेलने में घंटों वक्त बिताया है, उनके मस्तिष्क में एक विशेष हिस्सा हो सकता है जो तब सक्रिय होता है जब वे अपने प्रिय चरित्र पिकाचू या चरिजॉर्ड की तस्वीरों को देखें।

अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय का यह अध्ययन ‘‘नेचर ह्यूमन बिहैवियर’’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। इसकी सहायता से हमारे देखने की प्रणाली में दो रहस्यों पर प्रकाश पड़ सकता है। विश्वविद्यालय के स्नातक छात्र जेस्सी गोम्ज ने कहा कि यह  एक बड़ा सवाल बना हुआ था कि क्यों मस्तिष्क में ऐसे क्षेत्र होते हैं जो शब्दों और चेहरों के प्रति अनुक्रिया करते हैं लेकिन शायद कारों के प्रति नहीं। गोम्ज ने कहा कि यह अबतक एक रहस्य बना हुआ है कि वह हर एक के मस्तिष्क में उसी स्थान पर क्यों उपस्थित होता है। गौरतलब है कि पोकेमॉन वीडियोगेम पहली बार 1996 में सामने आया था।