#MeToo का असर, नाना को सिंटा और आलोक नाथ को FWICE ने दिया नोटिस

Last Updated: Oct 10 2018 19:10
Reading time: 0 mins, 38 secs

पिछले दिनों तनुश्री दत्ता ने "हॉर्न ओके प्लीज" की शूटिंग के दौरान हुए हादसे को लेकर 10 साल बाद नाना पाटेकर पर आरोप लगाए। तनुश्री के बाद भारत में #MeToo का मामला जोर पकड़ने लगा। अब तक कई महिलाएं सामने आकर अपनी आप बीती बयां कर चुकी है। नाना पाटेकर, विवेक अग्निहोत्री, विकास बहल, आलोक नाथ, कैलाश खेर और वरुण ग्रोवर जैसे कई नाम सवालों के घेरे में हैं।

इन आरोपों के चलते फिल्म और टीवी इंडस्ट्री इस बारे में खुलकर #MeToo समर्थन कर रही है वहीं नाना पाटेकर और आलोक नाथ को कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। आलोक नाथ से 10 दिन में जवाब मांगा गया है। जहां नाना को सिंटा ने, वहीं आलोक नाथ को FWICE(Federation of Western India Cine Employees) ने नोटिस भेजा है।