भारत सरकार ने डाक टिकटों को बढ़ावा देने के लिए चलाई "दीनदयाल स्पर्श योजना"

Last Updated: Jul 12 2018 18:27

2017 में भारत सरकार की ओर से स्कूली छात्रों में डाक टिकटों के संग्रह को बढ़ावा देने के लिए दीनदयाल स्पर्श योजना शुरू की गई थी। जो की वर्ष 2018-19 में भी जारी है। इस योजना के तहत कक्षा 6 से 9 तक के उन स्कूली बच्चों, जिन्हें डाक टिकटों के संग्रह का शोंक हो और जिनका शैक्षणिक रिकॉर्ड भी अच्छा है उन्हें वार्षिक छात्रवृति दी जाएगी। प्रत्येक कक्षा 6,7,8, 9 में से 10 तक के छात्रों को छात्रवृति के लिए चुना जाएगा इस प्रकार पंजाब परिमंडल में से कुल 40 छात्रों का चयन किया जाएगा। छात्रवृति की राशि 6000 रूपए सालाना है।

इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए बच्चों को एक मान्यता प्राप्त स्कूल का छात्र होना अनिवार्य है और साथ ही स्कूल में एक philately club होना चाहिए और छात्र को उस क्लब का सदस्य होना चाहिय। अगर स्कूल में philately क्लब नहीं है तो छात्र का डाकघर में Philately Deposit Account होना अनिवार्य है। विजेता का चयन पंजाब परिमंडल द्वारा लिए जाने वाले philately क्विज तथा Philately Project में पर्दर्शन के आधार पर किया जाएगा। इस योजना का उद्देश्यएक स्थानीय तरीके से युवा पीढ़ी के बीच स्टाम्प संग्रह के शोंक को प्रोत्साहित करना है।