नशामुक्त पंजाब बनाने के लिए सरकार करेगी नशे के आदि लोगों का मुफ्त इलाज

Last Updated: Jul 11 2018 12:39

पंजाब को नशामुक्त कराने के लिए पंजाब सरकार लगातार कोई न कोई कदम उठा रही है। पहले तो सूबे की कैप्टन सरकार ने नशे के कारोबार में लिप्त लोगों को फांसी की सजा की सिफारिश की थी। इसके बाद राज्य के हर कर्मचारी का डोप टेस्ट करवाने का फरमान जारी किया और अब सरकार ने नशे के आदि लोगों का मुफ्त में इलाज कराने की घोषणा की है, साथ ही सरकार ने पुलिस प्रशासन को नशे के आदि लोगों और उनके परिवार को किसी भी हाल में परेशान नहीं करने के निर्देश दिए हैं। 

पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष भी इस मुद्दे को उठाएंगे और उनसे प्रार्थना करेंगे कि वे राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर से पंजाब में नशीली दवाओं और नशीले पदार्थों के प्रवेश को रोकने के लिए केंद्र के प्रयासों में और तेजी लाएं। आपको बता दें कि अभी हाल ही में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य सरकार के कर्मचारियों का डोप टेस्ट कराने के घोषणा की थी। इस मुद्दे पर विपक्ष ने खूब हंगामा किया। अंत में उन्होंने कहा कि डोप टेस्ट में पॉजेटिव पाए जाने पर किसी भी कर्मचारी की नौकरी नहीं जाएगी, बल्कि उसका इलाज कराया जाएगा।