केंद्रीय महिला मंत्री मेनका गांधी ने किया ट्वीट, महिलाओं को सशक्त करना हमारा दायित्व

Last Updated: Jul 10 2018 16:24

वित्त मंत्री पीयूष गोयल से केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने आयकर अधिनियम में सुधार करने का आग्रह किया है। मांग करते हुए मेनका गांधी ने ट्वीट किया कि एक समाज के रूप में महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करना हमारा दायित्व है। महिलाओं, विशेष रूप से पत्नियों और बहुओं के कई अनुरोधों के बाद मैंने वित्त मंत्री से आयकर अधिनियम की धारा 64 पर विचार करने और उचित रूप से संशोधन करने का आग्रह किया है। आयकर धारा 64 के तहत अगर कोई पति अपनी पत्नी को उपहार स्वरूप संपत्ति देता है और उस संपत्ति से पत्नी को कुछ आय होती है तो उस आय को भी पति के कर में जोड़ दिया जाता है। 

सोमवार को दुबारा मेनका गांधी ने देर रात ट्वीट किया, यह प्रावधान मूल रूप से 1960 के दशक में इस धारणा के तहत तैयार किया गया था कि पत्नियों और बहुओं के पास आमतौर पर कोई स्वतंत्र कर योग्य आय नहीं होती। इस अधिनियम का प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है क्योंकि वर्तमान में महिलाएं आर्थिक रूप से अधिक स्वतंत्र हो रही हैं। आगे उन्होंने कहा कि फिलहाल पति और दामाद अपने परिवारों में महिलाओं को संपत्तियों स्थानांतरित करने में डरते हैं। उन्हें लगता है कि कहीं ऐसा करने से परिसंपत्ति से अर्जित आय के चलते महिलाएं आयकर के चक्कर में न फंस जाए। क्योंकि ऐसा होने पर यह उन पर बोझ बन जाएगा।