लंदन में द इंग्लिश पेशेंट' को मिला गोल्डन बुकर प्राइज

Riya Bawa
Last Updated: Jul 09 2018 17:46

लंदन में आज कवि व उपन्यासकार माइकल ओंडाटेस की रचना 'द इंग्लिश पेशेंट' को गोल्डन बुकर प्राइज दिया गया। बताया जा रहा है कि इस कवि व उपन्यासकार का जन्म श्री लंका में हुआ था। दुनिया के प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरस्कारों में शुमार मैन बुकर प्राइज की 50वीं सालगिरह पर 'द इंग्लिश पेशेंट' को गोल्डन बुकर अवार्ड से नवाज़ा गया। इस उपन्यास को 1992 में बैर अन्सवर्थ के 'सेक्रेड हंगर' के साथ बुकर प्राइज मिला था।

जजों ने पहले हर दशक का सर्वश्रेष्ठ बुकर विजेता चुना। इनमें 'इन ए फ्री स्टेट' 'मून टाइगर', 'द इंग्लिश पेशेंट', 'वुल्फ हॉल' और 'लिंकन इन द बार्डो' शामिल थे। इसके बाद जनता ने वोट देकर इन पांचों में से ‘द इंग्लिश पेशेंट’ को गोल्डन बुकर विजेता चुना।