झारखंड में ईसाई प्रचारकों ने लोगों का किया धर्म परिवर्तन, 16 ईसाई प्रचारक गिरफ़्तार

Last Updated: Jul 08 2018 19:17

झारखंड के दुमका में आदिवासियों के बीच कथित तौर पर धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश में जुटे 16 ईसाई धर्म प्रचारकों को गिरफ़्तार किया गया है। इन लोगों पर आरोप है कि शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के सुदूर फूलपहाड़ी गांव में ग्रामीणों के बीच गैरक़ानूनी ढंग से प्रचार करते हुए वो उन पर अपना धर्म बदलने के लिए ज़ोर दे रहे थे। दुमका के पुलिस अधीक्षक कौशल किशोर ने इसकी पुष्टि की है। 

शिकायतकर्ता रमेश मुर्मू का आरोप है कि सभी गिरफ़्तार आरोपी गांव में घुसकर संथाल आदिवासियों को प्रलोभन देकर ईसाई धर्म क़बूल करने और माइक लगाकर 'जाहेरथान (संथाल आदिवासियों का पूजा का स्थान)' जाने के लिए मना कर रहे थे। ग्रामीणों ने रातभर आरोपियों को गांव में ही पकड़कर रखा और दूसरे दिन शुक्रवार को पुलिस को सूचना दी। इस अधिनियम के तहत आदिवासियों पर धर्म परिवर्तन कराने के लिए ज़ोर देने, उन्हें प्रलोभन देने या ग़ैर क़ानूनी तौर पर प्रचार-प्रसार करने के आरोपों में चार साल की सज़ा हो सकती है।