ऑनलाईन रजिस्टरियों के बाद पंजाब ने डिजिटलाज़ेशन की तरफ एक और कदम बढाया

Last Updated: Jul 11 2018 19:52

ऑनलाईन रजिस्टरियां शुरू करने वाला देश का पहला राज्य बनने के केवल दो सप्ताह बाद पंजाब के राजस्व विभाग ने राज्य को डिजिटल बनाने की तरफ एक और कदम बढ़ाया है। राजस्व मंत्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा अमलोह (फतेहगढ़ साहिब) की राजस्व अदालतों में राजस्व अदालत प्रबंधन सिस्टम का आग़ाज़ किया। यह व्यवस्था राज्य के ज़मीनी रिकार्ड से जुड़ी हुई है। कोई भी केस दायर होने के साथ ही संबंधित ज़मीन की जमांबन्दी के टिप्पणी वाले कॉलम में संबंधित केस का विवरण दर्ज हो जाएगा। 

इस अवसर पर सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब दिन-ब -दिन डिजिटल हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में ज़मीन की ऑन लाईन रजिस्ट्रेशन के अलावा राजस्व विभाग द्वारा ज़िला मोहाली के दो गांवों मुंडी, खरड़ और हरलालपुर में हदबंदी की निशानदेही के लिए डिजिटल मैपिंग का पायलट प्रोजैक्ट भी शुरू किया गया है। 

इस मौके पर उपस्थित प्रमुख शख्सियतों में राजस्व विभाग के सचिव दीपइन्दर सिंह, पंजाब राजस्व कमीशन के चेयरमैन जस्टिस (सेवामुक्त) एस.एस. सारो, कमीशन के मैंबर एन.एस. कंग, एस.एस. गिल, जी.एस. मांगट और जसवंत सिंह, पंजाब लैड्ड रिकार्डज़ सोसायटी के सलाहकार एन.एस. संघा, इस प्रोजैक्ट की मैनेजर सुनीता ठाकुर और एनआईसी पंजाब टीम के मैंबर शामिल थे।